दुनिया की संबसे मंहगी पाइपलाइन से भारत आयेगी रूसी गैस

नई दिल्ली (16 अक्टूबर): रूस से भारत के लिए गैस सप्लाई पाइपलाइन पर बात आगे बढ़ गई है। दोनों देशों के सालाना शिखर सम्मेलन में इस बात पर एमओयू हुआ है कि रूस की सबसे बड़ी गैस कंपनी गैजप्रॉम और भारत की इंजीनियर्स इंडिया लिमिटेड इस पाइपलाइन के लिए मिलकर स्टडी करेंगी। हालांकि 2005 से ही इस पाइपलाइन की बात हो रही है लेकिन अब ठोस नतीजा सामने आने के आसार हैं ।

यह प्रोजेक्ट काफी खर्चीला होने का अनुमान है। एक अनुमान के मुताबिक इसमें 40 अरब डॉलर खर्च हो सकते हैं जो सबसे महंगा पाइपलाइन प्रोजेक्ट होगा। आर्थिक संकट से जूझ रहे रूस के एक्सपोर्ट को इस पाइपलाइन से स्थिरता मिलेगी। भारत इस पाइपलाइन को एनर्जी ब्रिज के तौर पर देखता है। रक्षा के बाद तेल-गैस क्षेत्र दोनों देशों के बीच संबंधों में तेजी से उभर रहा है। भारतीय कंपनियां रूस के तेल गैस क्षेत्रों में भारी मात्रा में निवेश कर रही हैं।