पुतिन ने अमेरिका के बाद अब जर्मनी के 4 राजनयिकों को रूस से निकाला

नई दिल्ली ( 30 मार्च ): ब्रिटेन में पूर्व जासूस को जहर देने के मामले पर उठा विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है। शुक्रवार को अमेरिका के 60 राजनयिकों को निकालने के फैसले के बाद रूस ने जर्मनी के भी चार राजनयिकों को निष्कासित करने का फैसला लिया है। बता दें कि ब्रिटेन ने चार मार्च को पूर्व रूसी एजेंट सर्गेई स्क्रिपल और उनकी बेटी यूलिया स्क्रिपल को जहर देने के मामले पर रूस को साफ तौर पर दोषी ठहराया था।

खबरों के मुताबिक, रूस द्वारा चार राजनयिकों को निष्कासित करने की जानकारी जर्मनी ने ही दी है। इसे रूस की जवाबी कार्रवाई बताया जा रहा है, क्योंकि इससे पहले गुरुवार को जर्मनी ने रूस के राजनयिकों को निष्काषित किया था।

अमेरिका के राजनयिकों को निकालने का फैसले भी जवाबी बताया गया था। अमेरिका ने रूस के 60 राजनयिकों को निकाल दिया था और सिएटल स्थित रूसी दूतावास को बंद करने का आदेश दिया था। अमेरिका के साथ कई यूरोपीय देशों ने रूस के राजनयिकों को अपने-अपने देश से निकाला या ऐसा करने का आदेश दिया था। 

ये कदम रूस को सबक सिखाने के उद्देश्य से उठाए गए बताए जाते हैं। आरोप है कि ब्रिटेन में पूर्व जासूस को जहर देने के मामले में रूस का भी हाथ है। ट्रंप प्रशासन के सीनियर अधिकारी ने कहा था कि सभी 60 रशियन अमेरिका में डिप्लोमैटिक कवर के तहत जासूसी कर रहे थे। इनमें करीब एक दर्जन यूनाइटेड नेशन में रूस के मिशन पर तैनात थे।