तालिबान को समर्थन के आरोप से रूस का इंकार

नई दिल्ली (12 मार्च): रूस ने तालिबान को समर्थन देने से जुड़े आरोपों को खारिज किया है। हाल में लगे आरोप कि आईएसआईएस से मुकाबले के नाम पर रूस इन दिनों तालिबान को आगे बढ़ा रहा है। इस पर भारत में भी चिंता देखी जा रही थी। रूस के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि तालिबान के साथ सीमित संपर्कों का मकसद अफगानिस्तान में रूसी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करना और तालिबान को सुलह प्रक्रिया में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करना है। रूसी दूतावास के सूत्रों ने कहा कि हमने अफगानिस्तान और तालिबान के बीच सीधी बातचीत के लिए सुलह प्रयासों को आगे बढ़ाने के प्रयासों को तेज करने का निर्णय लिया है। रूस के कदमों से तालिबान की मुहिम को 'वैधता' देने की संभावना नहीं है। यह बात अफगानिस्तान भी मानता रहा है। यह कोई गुप्त बात नहीं है कि कई देशों के साथ अफगानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन भी तालिबान के साथ संपर्क बनाए रखता है।