रूस ने कहा- हम हर समय भारत के साथ खड़े, पाकिस्तान को लताड़ा

नई दिल्ली (3 अक्टूबर): रूस ने पीओके में जाकर भारतीय सेना द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक का खुलकर समर्थन किया है। भारत में रूस के राजदूत अलेक्जेंडर एम. कदाकिन ने कहा है कि रूस ही एकमात्र ऐसा देश है, जिसने उरी हमले के बाद साफ-साफ कहा कि आतंकवादी पाकिस्तान से आए थे।

एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में राजदूत अलेक्जेंडर ने कहा, 'पाकिस्तान सीमा पार आतंकवाद को रोके। हमारा देश सीमा पार से फैलाए जा रहे आतंकवाद के खिलाफ भारत की लड़ाई में हमेशा साथ रहा है। जब आतंकवादी सैन्य ठिकानों और शांति के साथ रह रहे नागरिकों पर हमला करते हैं तो मानवाधिकारों का सबसे बड़ा हनन होता है। हम सर्जिकल स्ट्राइक का स्वागत करते हैं। हर देश को खुद की रक्षा का अधिकार है।'

अलेक्जेंडर ने कहा कि रूस और पाकिस्तान के बीच संयुक्त सैनिक अभ्यास से भारत को चिंतित होने की जरूरत नहीं है। अभ्यास की थीम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई थी। यह भारत के हित में है कि हम पाकिस्तानी सेना को यह सिखाएं कि वह भारत के खिलाफ आतंकवादी हमलों के लिए खुद का इस्तेमाल न होने दे। यह अभ्यास गिलगिट-बाल्टिस्तान या ‘पाकिस्तान के कब्जे वाले भारतीय राज्य जम्मू-कश्मीर’ जैसे किसी संवेदनशील या समस्याग्रस्त जगह पर नहीं हुआ।