'नोटबंदी के बाद 7 गुना हुआ रुपे कार्ड से ट्रांजैक्शऩ'




नई दिल्ली(29 दिसंबर): नोटबंदी के बाद से डिजिटल लेनदेन में वृद्धि हुई है जिसके चलते भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) के रुपे कार्ड से दुकानों पर खरीदारी करने में सात गुना वृद्धि हुई है। एनपीसीआई लंबे समय से देश में डिजिटल पेमेंट को प्रोत्साहित करने के लिए प्रयासरत है।


- सरकार के 8 नवंबर को बड़े मूल्य के पुराने नोट बंद किए जाने के बाद से रुपे कार्ड से रोजाना 21 लाख से ज्यादा भुगतान किए गए हैं। अगले साल दिसंबर तक कंपनी का लक्ष्य रोजाना रुपे कार्ड से 50 लाख लेनदेन का है।


- कंपनी के मुख्य कार्यकारी और प्रबंध निदेशक एपी होटा ने कहा, 'नोटबंदी से पहले ई-कॉमर्स और पॉइंट ऑफ सेल्स (पीओएस) पर रुपे कार्ड का प्रयोग 3 लाख प्रतिदिन था जो अब सात गुना बढ़कर 21 लाख हो गया है।' निगम ने अब तक 31.7 करोड़ रुपे कार्ड जारी किए हैं जिनमें 20.5 करोड़ जनधन खातों के कार्ड भी शामिल है।