शादी के लिए नहीं मिल रहे 2.5 लाख, सरकार करेगी समीक्षा

नई दिल्ली ( 22 नवंबर ): पीएम मोदी के 8 नवंबर की आधी रात से 500-1000 के नोट बैन लगा दिया गया है। उसके बाद से बैंक से लेन-दने को लेकर कुछ नियम बनाए गए। उसी नियम के तहत जनता बैंक के साथ लेन-देन कर सकती है। शादी के लिए पैसे निकालने को लेकर भी नियम बनाए गए हैं। शादी के लिए पैसे निकासी को लेकर अभी जो नियम हैं उससे राहत कम और आफत ज्यादा बढ़ गई है। इसलिए आज सरकार नियमों की समीक्षा करेगी और जनता को सहूलियत देने के लिए नियमों में बदलाव कर सकती है।

सरकार ने शादी वाले घर के किसी एक सदस्य को 30 दिसंबर तक अधिकतम 2.5 लाख रुपये की निकासी की सहूलियत दी है। ये नियम सिर्फ 30 दिसंबर तक की शादियों पर लागू है। शादी के लिए पैसे निकालने के लिए घोषणापत्र देना जरूरी किया गया है और ये घोषणापत्र उनसे लेना होगा जिनको कैश देना है। उदाहरण के तौर पर अगर पैसे केटरिंग वाले देने हैं तो उसको लिखकर देना होगा कि उसका कोई बैंक अकाउंट नहीं है, इस शर्त को पूरा करने पर ही बैंक से 2.5 लाख रुपये की निकासी संभव होगी।

शादी के लिए बैंक से पैसों की निकासी के लिए शादी का प्रमाण यानि निमंत्रण कार्ड दिखाना जरूरी है। साथ ही शादी के लिए किए गए एडवांस पेमेंट की रसीदों की कॉपी देना भी जरूरी किया गया है। साथ ही बैंक से निकाले गए रकम का जिन्हें कैश पेमेंट करना है उनकी सूची भी सौंपनी होगी। इन तमाम तरह की शर्तों को पूरा करने के बाद बैंक से शादी के लिए 2.5 लाख रुपये की निकासी संभव हो सकेगी।