BREAKING: अखिलेश समर्थकों ने किया सपा दफ्तर पर कब्जा

नई दिल्ली (1 जनवरी): इस समय एक बड़ी खबर लखनऊ से आ रही है, जहां पर अखिलेश समर्थकों ने समाजवादी पार्टी के दफ्तर पर कब्जा कर लिया है। अखिलेश खेमे द्वारा बनाए गए नए प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम अपने समर्थकों के साथ समाजवादी पार्टी के कार्यालय पर पहुंचे और उसपर कब्जा कर लिया है। लखनऊ में अधिवेशन के दौरान रामगोपाल यादव ने शिवपाल यादव को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया था। 

इससे पहले लखनऊ के जनेश्वर मिश्र पार्क में समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधियों के राष्ट्रीय अधिवेशन में रामगोपाल यादव ने नेताजी मुलायम सिंह यादव को पार्टी का मार्गदर्शक और उनकी जगह अखिलेश यादव को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पारित किया। इसके साथ ही उन्होंने शिवपाल यादव को प्रदेश अध्यक्ष पद तथा अमर सिंह को पार्टी से हटाने का भी प्रस्ताव भी पार्टी कार्यकर्ताओं के ध्वनि मत से पास किया।रामगोपाल की इस घोषणा के बाद मुलायम सिंह यादव ने रविवार के अधिवेशन को असंवैधानिक करार देते हुए इसमें लिए फैसले को रद्द कर दिया। मुलायम ने अब लखनऊ के उसी जनेश्वर मिश्र पार्क में 5 जनवरी को पार्टी अधिवेशन बुलाया है। इसके साथ ही उन्होंने रामगोपाल यादव को छह साल के लिए सस्पेंड कर दिया है। उन्होंने एक चिट्ठी जारी करते हुए कहा कि कुछ लोग उन्हें अपमानित कर बीजेपी को लाभ पहुंचाना चाहते हैं और उन्हीं लोगों ने आज पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन बुलाया था। मुलायम अब इस मामले में कानूनी लड़ाई लड़ने को भी तैयार दिख रहे हैं। उन्होंने चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखकर कहा है कि अखिलेश यादव की रविवार को हुई सभा को असंवैधानिक थी।