अमित जेठवा हत्याकांड: पूर्व बीजेपी सांसद दीनू सोलंकी को गुजरात हाईकोर्ट से झटका


नई दिल्ली(29 जून): आरटीआई एक्टीवीस्ट अमित जेठवा मामले में गुजरात हाईकोर्ट का बडा फैसला आया है। इस मामले की रीट्रायल के दिए आदेश। देश में पहली बार हुआ ट्रायल खत्म होने से पहले ही रीट्रायल का आदेश दिया गया है। इससे पहले ट्रायल खत्म होने के बाद जेसिका लाल में हुआ था रीट्रायल का आदेश।


- अमित जेठवा की जुलाई 2010 में हाईकोर्ट के ठीक सामने हत्या कर दी गई थी।


- तत्कालीन बीजेपी सांसद दीनू बोघा सोलंकी इस केस में मुख्य आरोपी है।


- जेठवा के परिवार ने आरोप लगाया था कि सोलंकी के गैरकानूनी खनन के मामले उजागर कर रहा था।


- अहमदाबाद क्राईम ब्रान्च ने इस मामले में सोलंकी को क्लीनचिट दी उसके बाद हाईकोर्ट ने सीबीआई जांच के दिए आदेश थे।


- ट्रायल के दौरान बहुत से गवाह अपनी गवाही से पलट गये थे। कोर्ट ने गवाहों के पलटने को गंभीरता से लिया। सभी 8 प्रत्यक्ष दर्शी और 40 पंच विटनेस होस्टाइल हो गये थे।