तीन तलाक पीड़ित महिलाओं के बच्चों को गोद लेगा RSS मुस्लिम मंच

नई दिल्ली (4 मई): अयोध्या में राम मंदिर बनाने की पहल कर चुके  RSS से संरक्षण प्राप्त मुस्लिम राष्ट्रीय मंच अब तीन तलाक से पीड़ित महिलाओं के बच्चों की पढ़ाई-लिखाई समेत अन्य चीजों के लिए बड़ी पहल करने जा रहा है। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच तीन तलाक से पीड़ित महिलाओं के बच्चों को गोद लेने की योजना बना रहा है, ताकि ऐसे बच्चों की ठीक से परवरिश हो और उनके अच्छी तालिम मिल सके।


उत्तराखंड के रुड़की के नजदीक पीरन कलियार में पांच और छह मई को मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होने जा रही है। इस बैठक में तीन तलाक से पीड़ित महिलाओं के बच्चों को गोद लेने पर विचार-विमर्श किया जाएगा।


इसके साथ ही इस कार्यक्रम में मुस्लिम परिवारों को गाय के फायदे बताकर उसे गोद लेने की अपील की जाएगी। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच मुसलमानों से मदरसों में 'भारतीय तहजीब' को सिखाए जाने की भी अपील करेगा। बताया जा रहा है कि दो दिन के इस कार्यक्रम में अयोध्या में बाबरी मस्जिद की विवाद जमीन राम मंदिर बनाने और तीन तलाख पर भी चर्चा होगी। बताया जा रहा है कि मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के इस कार्यक्रम में देशभर से 300 से ज्यादा मौलवी हिस्सा लेंगे।