येचुरी पर हमले की RSS ने की निंदा, कहा- हमले में संघ का नाम घसीटना गलत

नई दिल्ली ( 8 जून ): राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने कल राष्ट्रीय राजधानी में माकपा महासचिव सीताराम येचुरी के संवाददाता सम्मेलन को ‘‘अलोकतांत्रिक तत्वों द्वारा बाधित करने के खुलेआम प्रयासों की गुरुवार को निंदा की।

आरएसएस के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डॉ. मनमोहन वैद्य ने सीपीएम नेता सीताराम येचुरी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में हुए हमले की निंदा की है। उन्होंने कहा कि आरएसएस ऐसे किसी भी कृत्य की निंदा करता है। संघ किसी भी तरह के गैर लोकतांत्रिक कृत्य का समर्थन नहीं करता है। साथ ही मनमोहन वैद्य ने सीपीएम के उस बयान की भी निंदा की, जिसमें येचुरी ने इस मामले में आरएसएस का हाथ बताया था।

वैद्य ने कहा कि सीपीएम इससे डरी हुई और चिंतित है कि संघ का काम भारत में तेजी से बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि केरल में अक्सर संघ के कार्यकर्ताओं पर कम्युनिस्ट पार्टियों के कार्यकर्ता हमला करते हैं। कई स्वयंसेवक इसमें अपनी जान भी गंवा चुके हैं।

बता दें कि सीताराम येचुरी नई दिल्ली स्थित सीपीएम दफ्तर में एमपी के मंदसौर में हुई घटना पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे थे। तभी दो व्यक्तियों ने उन पर हमले की कोशिश की और नारेबाजी की। वहां मौजूद लोगों ने आरोपियों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। आरोपियों ने पुलिस को दिए बयान में खुद को हिंदू सेना का कार्यकर्ता बताया है। येचुरी ने इस हमले का आरोप आरएसएस पर लगाया था।