शिक्षा व्यवस्था को लेकर बोले मोहन भागवत

नई दिल्ली(21 अगस्त): आगरा में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने एक सम्मेलन का आयोजन किया । जिसमें आगरा ,अलीगढ व बरेली मंडल के महाविद्यालय व विस्वविद्यालय के टीचर शामिल हुए । इस सम्मेलन को आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने संबोधित किया। संबोधन में संघ प्रमुख ने कहा की संघ कभी शिक्षकों के लिए आंदोलन की बात नहीं करता। संघ स्वयं सेवक तैयार करता है।

- मोहन भागवत ने कहा की शिक्षा में बदलाव करना है तो अपने आप में बदलाब करना पड़ेगा । सम्मेलन में भाग लेने आये टीचर ने मोहन भागवत से सवाल करते हुए शिक्षा में बदलाव की बात करने के साथ साथ आरक्षण व्यवस्था खत्म करने के भी सवाल किए। अध्यापकों द्वारा किये गए सवालों का जवाब देते हुए सर संघ चालक मोहन भागवत ने कहा कि व्यवस्था बदलने के लिए खुद में बदलाव लाना होगा ।

- संबोधन के दौरान मोहन भागवत ने कहा कि आप लोग कह रहे है कि उनकी जन संख्या बढ़ रही है इस पर उन्होंने कहा कि हिंदुओं को किसने रोका है ।

-  सम्मेलन में शिक्षकों द्वारा पूछे गए सवालों के बारे में मोहन भागवत ने कहा कि वह उनकी बात को केंद्र सरकार तक पहुंचा देंगे लेकिन अच्छा हो आप अपने सवालों को पत्र लिखकर शिक्षा मंत्री तक भेजें ।

- संघ प्रमुख ने ये भी कहा कि 70 सालों में परिवर्तन करने की कई बात कही लेकिन समाजवाद आया अन्य बाद आये लेकिन परिवर्तन नहीं हुआ हमने व्यवस्था बदली । व्यवस्था से काम नहीं चला तो हमने व्यक्ति बदल दिया।

-  अपने 40 मिनट के संबोधन में मोहन भागवत ने अध्यापकों से शिक्षा में परिवर्तन लाने के लिए खुद को बदलने की बात कही।  इशारों ही इशारों में संघ प्रमुख वर्तमान शिक्षा व्यवस्था के खिलाफ बोलते नजर आये और इसको परिवर्तित करने की बात भी अपने उद्बोधन में कहते दिखे ।