'अगला स्वतंत्रता दिवस पाकिस्तान में मनाएंगे'

नई दिल्ली(14 अगस्त): पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस पर दिल्ली में पाक उच्चायुक्त अब्दुल बासित के बयान पर आरएसएस विचारक ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। 

- बासित के जश्न ए आजादी को कश्मीर की आजादी के नाम करने वाले बयान पर संघ विचारक राकेश सिन्हा ने सीधे-सीधे भारत सरकार से अब्दुल बासित को पाकिस्तान भेजने की बात कही है।

- राकेश सिन्हा ने कहा है कि अब्दुल बासित ने अपने दिए बयान से साबित कर दिया है कि वह राजदूत नहीं, वह जिहादियों के भारत में प्रतिनिधि हैं। और ऐसे प्रतिनिधि को भारत की जमीन पर एक क्षण भी रहने का अधिकार नहीं है। भारत सरकार को बिना-विलंब उन्हें पाकिस्तान वापस भेज देना चाहिए। 

- सिन्हा ने कहा कि  हम अगला स्वतंत्रता दिवस पाकिस्तान में तीन जगहों पर मनाएंगे। राकेश सिन्हा ने कहा है कि बासित ने बयान दिया है वो अक्षम्य है। वह (बासित) यहां बैठकर भारत के भीतर अलगाववादियों, आतंकियों और विघटनकारियों को प्रोत्साहन दे रहे हैं। यदि उन्हें वापस नहीं भेजा गया तो इसका साफ संदेश उन अलगाववादियों को जाएगा कि भारत सब चीजों को सहन करने के लिए तैयार है। हम अपनी एकता और अखंडता को किसी प्रकार से सहन नहीं करेंगे। और यदि पाकिस्तान भारत को युद्ध के लिए प्रेरित कर रहा है तो उसे 1965 और 1971 नहीं भूलने चाहिए। मुझे लगता है कि भारत ने एक बात दोहराई है कि बलूचिस्तान की आजादी, बलूचिस्तान में मानवाधिकारों का स्थापित करना, ये हमारा इस स्वतंत्रता दिवस पर संकल्प है। और पाकिस्तान को बता देना चाहते हैं कि हम अगला स्वतंत्रता दिवस पाकिस्तान में तीन जगहों पर मनाया जाएगा... पाकिस्तान, बलूचिस्तान और सिंध।