पान वाले के खाते में जमा हुए 5 करोड़ रुपये, आयकर विभाग ने कसा शिकंजा

गाजियाबाद ( 22 जनवरी ): नवयुग बाजार स्थित गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के दफ्तर के पास घनश्याम नाम का एक व्यक्ति एक खोखे में पान बेचता है, लेकिव उस वक्त सब हैरान रह गए, जब पान बेचने वाले के खाते में 5 करोड़ रुपये जमा होने का खुलासा हुआ। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के मुताबिक घनश्याम के खाते में 9 नवंबर से 31 दिसंबर के दौरान 5 करोड़ रुपये जमा हुए थे। यह वही वक्त था, जिस दौरान केंद्र सरकार ने अमान्य किए गए 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बैंकों में जमा कराने का वक्त दिया था।

घनश्याम सिर्फ पान ही नहीं बेचता था। इनकम टैक्स अधिकारियों से पूछताछ में घनश्याम ने बताया कि उसने एक प्रॉपर्टी डीलर, राहुल चौधरी, को अपना खाता संचालित करने की अनुमति दी थी। इसके लिए वह प्रतिमाह 8,000 रुपये ले रहा था। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के मुताबिक यह रकम दिल्ली और मेरठ के कुछ लोगों की हो सकती है, जिनमें ज्वैलर्स भी शामिल हो सकते हैं। अधिकारियों के मुताबिक राहुल चौधरी के माध्यम से इन कारोबारियों ने घनश्याम के खाते में रकम जमा करवाई होगी।

गाजियाबाद के ही नेहरू नगर इलाके की जम्मू ऐंड कश्मीर बैंक की शाखा में घनश्याम का खाता है। इस ब्रांच में दो अन्य संदिग्ध खातों की भी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा जांच की जा रही है। इन खातों में कुल 12 करोड़ रुपये की रकम जमा हुई है। एक सीनियर अधिकारी ने बताया, 'हमारी जांच में खुलासा हुआ है कि ये दोनों सेविंग्स अकाउंट फर्जी हैं और इन्हें फर्जी दस्तावेजों के आधार पर खोला गया है।'

अधिकारी के मुताबिक'इन खातों में पुराने 500 और 1000 रुपये के नोटों में कुल 12 करोड़ रुपये जमा कराए गए थे। पूछताछ में खुलासा हुआ कि ये दोनों खाते भी राहुल चौधरी द्वारा ही ऑपरेट किए जा रहे थे।'