आयकर विभाग का बड़ा खुलासा, नोटबंदी के बाद बैंकों में जमा हुए 4 लाख करोड़ कालाधन


नई दिल्ली ( 10 जनवरी ): पीएम मोदी ने 8 नवंबर की आधी रात को बड़े नोटों पर पाबंदी लगा दी थी जिसके बाद बैंको में जमा किए पैसों को लेकर आयकर विभाग ने बड़ा खुलास किया है। आयकर अधिकारियों के बताया कि नोटबंदी के बाद तीन से चार लाख करोड़ रुपये की अब तक अलग रखी गई आय को बैंकों में जमा कराया गया है, आयकर विभाग इनके ब्यौरे की जांच कर रहा है।

आयकर अधिकारी ने बताया कि नोटबंदी के बाद 60 लाख से अधिक बैंक खातों में दो लाख करोड़ रुपये से अधिक राशि जमा की गई है। वहीं नौ नवंबर के बाद पूवोर्त्तर राज्यों में विभिन्न बैंक खातों में 10,700 करोड़ रुपये से अधिक नकद राशि जमा कराई गई।


आयकर विभाग, प्रवर्तन निदेशालय सहकारी बैंकों के विभिन्न खातों में जमा कराई गई 16,000 करोड़ रुपये से अधिक राशि की भी जांच पड़ताल कर रहा है। अधिकारी ने बताया कि नोटबंदी के बाद निष्क्रिय बैंक खातों में 25,000 करोड़ रुपये नकद जमा कराये गये। नोटबंदी के बाद करीब 80,000 करोड़ रुपये के कर्ज का भुगतान नकद राशि में किया गया।



-60 लाख से अधिक बैंक खातों में दो लाख करोड़ से अधिक राशि जमा की गई।


-प्रवर्तन निदेशालय सहकारी बैंकों के विभिन्न खातों में जमा कराई गई 16,000 करोड़ रुपये से अधिक राशि की भी जांच पड़ताल कर रहा है।


-नोटबंदी के बाद निष्क्रिय बैंक खातों में 25,000 करोड़ रुपये नकद जमा कराये गये।


-नोटबंदी के बाद करीब 80,000 करोड़ रुपये के कर्ज का भुगतान नकद राशि में किया गया।


-नौ नवंबर के बाद पूवोर्त्तर राज्यों में विभिन्न बैंक खातों में 10,700 करोड़ रुपये से अधिक नकद राशि जमा कराई गई।