EXCLUSIVE: न्यूज़ 24 का 2000 के नए नोट की चिप पर बड़ा खुलासा...

अविनाश पांडेय, नई दिल्ली (26 दिसंबर): नोटबंदी के बाद सरकार की तरफ से 2 हज़ार और 500 के नए नोट जारी किए गए, लेकिन पूरे देश में खासकर सोशल मीडिया में पिछले काफी वक्त से कई वीडियो वायरल हो रहे हैं। इसमें कहा जा रहा है कि 2 हज़ार के नए नोट में कोई चिप लगी है। देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली पहले ही साफ़ कर चुके हैं कि नोट में किसी भी तरह की कोई नैनो चिप नहीं लगी है, लेकिन फिर भी अफ़वाहों का बाज़ार गर्म है। सोशल मीडिया पर तो मानो ये एक मुहिम की तरह चल रहा है।

हमारे सामने 2000 के नए नोट को लेकर कई सवाल थे। क्या एक नोट में चिप फिट की जा सकती है। इन सवालों से पर्दा उठाने के मकसद से न्यूज़ 24 रिपोर्टर एक इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेली कम्युनिकेशन इंजीनियर और वायर लेस उपकरणों के जानकार के पास पहुंचे। इनका नाम अंकुर पुराणिक था। इन्होंने हमें समझाने की कोशिश

कि क्या 2000 के नोट में कोई चिप है।

सोशल मीडिया में दावा किया जा रहा है कि नोट में चिप लगी होने की वजह से सरकार इसे सैटेलाइट से ट्रैक कर रही है और यही वजह है कि लगातार छापों में लाखों-करोड़ों के 2000 के नोट बरामद हो रहे हैं, लेकिन विज्ञान आख़िर इसे किस तरह से लेता है। किसी भी चिप को चलाने के लिए पावर यानी ऊर्जा की ज़रूरत होती है, क्योंकि बिना पावर के कोई भी चिप बेकार है।

चिप 2 तरह की होती हैं...

- एक्टिव चिप

- पैसिव चिप

यानी अगर 2000 के नोट में कोई चिप लगी है तो वो या तो एक्टिव चिप होगी या फिर पैसिव चिप।

2000 के नोट में है एक्टिव चिप ?

जिस तरह की चिप कार लॉकिंग सिस्टम में लगी होती है, वैसी चिप 2000 के नोट में लगी है ये संभव नहीं है, क्योंकि ये चिप बैट्री से काम करती है। अब सवाल है कि क्या 2000 के नोट में पैसिव चिप लगी है तो इसे भी समझिए क्या ये मुमकिन है।

2000 के नोट में है पैसिव चिप ?

इस तरह की पैसिव चिप भी 2000 के नोट में नहीं फिट की जा सकती, क्योंकि इस तरह की चिप इलेक्ट्रोमैग्नेटिक तरंगों के ज़रिए काम करती हैं। कई बार ये तभी काम करती हैं, जब इसे दूसरी डिवाइस के बेहद करीब लाया जाता है। कुल मिलाकर किसी भी चिप के लिए पावर बहुत जरुरी है और इतने पतले कागज में अगर चिप लगा भी दी गयी तो वो बहुत सीमित दूरी तक ही ट्रैक की जा सकती है। मसलन 10 या 20 सेंटीमीटर तक यानी ये साफ है कि 2000 के नोट में पैसिव चिप भी नहीं फिट की जा सकती।

यानी ये बात झूठी साबित हुई कि 2000 के नोट में किसी भी तरह की चिप लगी है। सोशल मीडिया में जो भी चिप को लेकर दावे किए जा रहे हैं। वो सरासर ग़लत और बिलकुल झूठे हैं। ये सिर्फ अफवाह है और इसके सिवा कुछ भी नहीं। वायरलेस उपकरणों के जानकार अंकुर ये भी कहते हैं कि 2000 के नोट को लेकर चल रही किसी भी तरह की अफवाह पर यकीन न करें।