मजदूर के अकाउंट में मिले 1 करोड़, बैंकों में खलबली

नई दिल्ली (22 जुलाई): पंजाब में एक दिहाड़ी मजदूर के निष्क्रिय पड़े अकाउंट में एक करोड़ रुपये देखकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के कान खड़े हो गए हैं। 

- रिपोर्ट के मुताबिक, औचक निरीक्षण में पाया गया कि दिहाड़ी मजदूर की जानकारी के ठगी करने वाले उसके अकाउंड के जरिए लेन देन करते हैं।  - घटना के बाद बैंकिग सेक्टर में खलबली मची है। चिंता की बात ये है कि इस घटना का पता तब चला जब इनकम टैक्स विभाग ने उस दिहाड़ी मजदूर को नोटिस पकड़ा दिया।  - गौरतलब है कि दिहाड़ी मजदूर को इस बारे में कुछ भी पता नहीं था।  - इस मामले के बाद रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने पब्लिक और राज्यों के अधीन बैंकों को याचिका भेजकर 'मनी मुलिंग' के प्रति चेताया है।  - आरबीआई ने कहा है कि एनडीए सरकार की प्रधानमंत्री जन धन योजना फ्लैगशिप योजना के तहत खोले गए बैंक खातों का गलत उपयोग हो सकता है।  - 'मनी म्यूल' का प्रयोग उस व्यक्ति के लिए किया जाता है, जो धोखाधड़ी का शिकार हुआ है। जैसे इस केस में दिहाड़ी मजदूर 'मनी म्यूल' है।