'खुदकुशी करने वाला छात्र रोहित दलित नहीं था, सारे आरोप बेबुनियाद'

नई दिल्ली (31 जनवरी): केंद्रीय विदेश मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता सुषमा स्वराज ने शनिवार को कहा कि हैदराबाद यूनिवर्सिटी में खुदकुशी करने वाला छात्र रोहित वेमूला 'दलित' नहीं था। महाराष्ट्र में पत्रकारों से बात करते हुए सुषमा ने कहा, कि उनकी जानकारी के मुताबिक वह दलित छात्र नहीं था। 

मीडिया में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक, सुषमा स्वराज ने रोहित वेमुला के खुदकुशी करने के बाद देश में हो रही राजनीति से पैदा हुए विवादित माहौल पर कहा, "मेरी जानकारी के मुताबिक, वह दलित छात्र नहीं था। हकीकत यह है कि जो आरोप लगाए गए हैं, वे सारे बेबुनियाद हैं। सुषमा ने कहा कि जब कोई किसी पर आरोप लगाना चाहता है तो वह कुछ भी कह सकता है।"

दूसरी रोहित वेमूला की आत्महत्या के मुद्दे पर आंदोलनकारी छात्रों के साथ खड़े होते हुए राहुल गांधी शनिवार को हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय के आंदोलनरत छात्रों के साथ एक-दिवसीय भूख हड़ताल पर बैठे। राहुल गांधी ने रोहित की खुदकुशी के मामले को महात्मा गांधी की हत्या जैसा करार दिया। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि गांधीजी ने सच की खोज और दुनिया को समझने के लिए जिंदगी जी तथा आखिरकार उनकी उन्हीं ताकतों ने हत्या की जो नहीं चाहती थीं कि वह तेज आवाज में बोलें। यही चीज रोहित के साथ की गई है। बीजेपी ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष एक संवेदनशील मामले का राजनीतिकरण कर रहे हैं।