म्यांमार हिंसा के पहले महीने में 6700 रोहिंग्याओं की मौत: रिपोर्ट

नई दिल्ली (14 दिसंबर): बांग्लादेश में शरणार्थियों के सर्वे के आधार पर कहा गया है कि म्यांमार के आधिकारिक आंकड़े 400 के मुक़ाबले मरने वालों की संख्या कहीं अधिक है। एमएसएफ ने गुरुवार को घोषणा की है कि अगस्त माह के अंत में म्यांमार के रखाइन राज्य में भड़की हिंसा के बाद कम से कम 6,700 रोहिंंग्या मारे गए। 

एमएसएफ ने रिपोर्ट में कहा, 'सबसे रूढि़वादी अनुमानों में, हिंसा के कारण कम से कम 6,700 लोगों की मौत हुई है जिसमें 5 साल से कम उम्र के बच्चों की संख्या कम से कम 730 है।' एमएसएफ को बिना सीमाओं के डॉक्टरों के रूप में जाना जाता है। संस्था ने कहा कि यह म्यांमार अधिकारियों द्वारा व्यापक हिंसा के स्पष्ट संकेत हैं।

एमएसएफ मेडिकल निदेशक सिडनी वोंग ने कहा, 'जो कुछ भी हमने पाया वह चौंका देने वाला था, लोगों की संख्या में संदर्भ में परिवारों ने माना है कि हिंसा के कारण उनके सदस्यों की मौत हुई, उन्होंने कहा कि हिंसा में उनके सदस्यों की भयावह तरीके से मृत्यु हुई या वे गंभीर रूप से घायल हो गए।'