आतंकियों को नेस्तनाबूद कर देगा ये रोबोट

नई दिल्ली (18 फरवरी): हिंदुस्तान की धरती पर अब  कहीं भी आतंकवादियों हमले की हिमाकत की तो उनका सामना इंसानी फौज से नहीं बल्कि  इंसानों से ज्यादा चालाक और दुश्मनों के लिए मौत साबित होने वाले रोबोट से होगा। इसकी प्रदर्शनी मुंबई में चल रहे 'मेक इन इंडिया'के डिफेंस मिनिस्ट्री के पवेलियन में चल रही है।

इसके अलावा डीआरडीओ, पुणे की गन माउंटेड रोबॉट, आयुध अनुसंधान की अडवांस असॉल्ट राइफल भी दुश्मनों के दांत खट्टे करने वाली साबित होंगी।  डीआरडीओ, पुणे के संजीव लोन ने बताया कि आंतकवादियों से मोर्चा लेते वक्त हमारे जवान शहीद न हों  इसलिए हमने दूर से ऑपरेट किया जाने वाला व्हीकल बनाया है, जिसमें रोबॉट आंतकवादियों के सामने जाएगा।

उसे एक सैनिक अपने कम्प्यूटर से ऑपरेट करेगा। यह एक रिमोट सेंसिंग यूनिट होगी। जिसके जरिए हमारे सिपाही 200 मीटर की दूरी से 7.6 एमएम और 30 एमएम का ग्रेनेड लॉन्चर ऑपरेट कर सकेंगे । इसमें टार्गेट पॉइंट करने के लिए लेजर गन भी है। यह रोबॉट अपने नाइट विजन और डे-विजन कैमरे के साथ 360 डिग्री घूम सकता है। इस रोबोट के अलावा बर्फीले सियाचिन, राजस्थान के रेगिस्तान और आसाम के जंगलों में सैनिकों के ल लिए एक ही राइफल से तीन तरह की गोलियां दागी जाने वाली थ्री कैलिवर की राइफल भी दुनिया के हैरत अंगेज़ हथियारों में से एक है।