सऊदी अरब में रोबोट सोफिया को सऊदी महिलाओं से ज्यादा अधिकार

नई दिल्ली ( 31 अक्टूबर ): सऊदी अरब एक रोबोट को नागरिकता प्रदान करने वाला पहला देश बन गया। 25 अक्टूबर को सऊदी अरब ने 'सोफिया' नाम के रोबोट को देश में रह रहे तमाम लोगों की तरह की नागरिकता प्रदान की है। लेकिन खास बात ये है कि बतौर अरब की नागरिक सोफिया के पास वहां रहने वाली महिलाओं से भी ज्यादा अधिकार हैं।

सऊदी अरब की नागरिकता पाने वाली रोबोट 'सोफिया' रियाद में एक टेक्नोलॉजी कॉन्फ्रेंस में दिखाई दी। यह स्टेज पर खुद पहुंची और वह भी बिना किसी पुरुष अभिभावक की इजाजत के। उस वक्त इस महिला रोबोट का सिर और शरीर भी ढंका नहीं था। यह देख ट्विटर पर यूजर्स ने कहा, "इस रोबोट को देश में महिलाओं से ज्यादा अधिकार हासिल हैं।" 

बता दें कि इस खाड़ी देश में महिलाओं को पुरुषों के मुकाबले बहुत कम अधिकार हैं। उन्हें अपने ज्यादातर काम के लिए अभिभावक की इजाजत लेना जरूरी है और सिर-शरीर अच्छी तरह ढंककर ही बाहर निकलने की इजाजत है। 

रोबोट सोफिया को हॉन्गकॉन्ग की कंपनी हैंसन रोबोटिक्स ने बनाया है। सऊदी अरब रोबोट को सिटिजनशिप देने वाला दुनिया का पहला देश है। कुछ दिनों पहले सऊदी की पब्लिक रिलेशन अफेयर्स कमेटी ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हेंडल पर इस रोबोट को सिटिजनशिप देने का एलान किया था। 

बता दें कि सोफिया को इंसानों की तरह बर्ताव करने वाला मोस्ट ह्यूमनॉयड रोबोट बताया जा रहा है।