अब व्हीकल्स नहींं सड़कें हॉर्न बजायेंगी !

नई दिल्ली (27 अप्रैल): भारतीय ट्रक ड्राइवर्स 'हॉर्न ओके प्लीज' लिखकर हॉर्न बजाने की गुजारिश करते हैं, वहीं अब हॉर्न को लेकर नई तकनीक ने दस्तक दे दी है। हाइवे पर सुरक्षा बढ़ाने की मंशा के साथ एचपी लुब्रिकैंट्स और लियो बर्निट ने हाथ मिलाया है और ऐसा सिस्टम डिवेलप किया है, जिसमें सड़कें खुद ही हॉर्न बजाएंगी। इस सिस्टम को सफलतापूर्वक जम्मू और श्रीनगर को जोड़ने वाले हाइवे एनएच-1 पर टेस्ट भी किया जा चुका है।


इस हाइवे को सबसे खतरनाक सड़कों वाला हाइवे भी माना जाता है। सड़कों के टर्न के आस-पास स्मार्टलाइफ पोल्स लगाए जाते हैं। ये पोल बिना तार के एक-दूसरे से कनेक्ट रहते हैं। जब भी ट्रैफिक इधर से उधर होता है, तो इन पोल्स के पास अलर्ट पहुंच जाता है। ये पोल्स वीइकल की रफ्तार भांप लेते हैं व ड्राइवर को हॉर्न के जरिए अलर्ट करने लगते हैं। स्थानीय पुलिस के मुताबिक, इस सिस्टम के ऐक्टिव होने के बाद सड़क हादसों में कमी आई है। कंपनियां अब इस सिस्टम पर बारीकी से अध्ययन कर रही हैं और अन्य जगहों पर लगाने के लिए भी विचार कर रही हैं।


सबसे ज्यादा सड़क हादसों वाले देशों की सूची में भारत भी है। खासकर पहाड़ी इलाके, जहां ठीक से ट्रैफिक के नियमों का पालन नहीं किया जाता। सराकरी रिपोर्ट्स के मुताबिक, साल 2015 में ही सड़क हादसों से 1,40,000 लोगों की जानें गईं।