जियो ने किया ये काम, अब ग्राहकों को मिलेगा हाईस्‍पीड इंटरनेट

नई दिल्ली (13 जुलाई): अगर आप रिलायंस जियो के ग्राहक हैं तो यह खबर जानना आपके लिए बहुत ही जरूरी है, क्योंकि रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड ने एक नया सबमरीन केबल सिस्‍टम, एशिया-अफ्रीका-यूरोप (AAE-1) लॉन्‍च किया है, जो फ्रांस से हांगकांग तक 25,000 किलोमीटर लंबा है।


जियो के अध्‍यक्ष मैथ्‍यू ओमेन ने कहा कि नई टेराबाइट क्षमता और ग्‍लोबल कंटेंट हब तथा इंटरकनेक्‍शन प्‍वाइंट से 100 जीबीपीएस डायरेक्‍ट कनेक्‍टीविटी यह सुनिश्चित करेगी कि जियो लगातार अपने ग्राहकों को हाई स्‍पीड इंटरनेट और डिजिटल सर्विस अनुभव प्रदान करती रहेगी।


ओमेन ने कहा कि ऐसे समय जब भारत का डाटा ट्रैफि‍क लगातार बढ़ रहा है। मुंबई में केबल को लैंड कराते हुए हमें काफी खुशी हो रही है। AAE-1 सबसे लंबा 100 जीबीपीएस टेक्‍नोलॉजी आधारित सबमरीन सिस्‍टम है। एशिया (हांगकांग और सिंगापुर) में प्‍वाइंट्स ऑफ प्रेजेंस (पीओपी) के साथ और यूरोप (फ्रांस, इटली और ग्रीस के जरिये) में तीन कनेक्‍टीविटी ऑप्‍शन मिलेंगे।


AAE-1 भारत में वीडियो केंद्रित बैंडविथ उपलब्‍ध कराएगा जो सभी प्रकार के कम्‍यूनिकेशन, एप्‍लीकेशन और कंटेंट को सपोर्ट करेगा। पूरे ग्‍लोबल मार्केट में सीधी पहुंच प्रदान करने के लिए AAE-1 आराम से अन्‍य केबल सिस्‍टम और फाइबर नेटवर्क से लिंक हो जाएगा। इसके एडवांस डिजाइन और रूट के कारण AAE-1 हांगकांग, भारत, मध्‍य पूर्व और यूरोप के बीच सबसे निम्‍न लैटेंसी रूट उपलब्‍ध कराएगा। जियो AAE-1 Cable System को नेटवर्क ऑपरेशन और मैनेजमेंट उपलब्‍ध करवा रहा है। AAE-1 का नेटवर्क ऑपरेशन सेंटर नवी मुंबई में स्थित है, जिसका प्रबंधन रिलायंस जियो के हाथों में है।