'रिलायंस जियो का लक्ष्य- भारत की डिजिटल पॉवर्टी को खत्म करना'

नई दिल्ली (1 सितंबर): रिलायंस इंडस्ट्रीज की सालाना आम बैठक में इस साल कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी समूह की अब तक की सबसे बड़ी परियोजना जियो 4जी दूरसंचार सेवा को लेकर बड़ी घोषणा करने वाले हैं, जिसकी लागत 21 अरब रुपये है। आधिकारिक रूप से कंपनी के वरिष्ठ अधिकारियों ने कोई जानकारी नहीं दी है। लेकिन उन्होंने कहा कि इस साल गुरुवार को होने वाली आमसभा में चेयरमैन कुछ बड़ी घोषणाएं करने वाले हैं और 4जी सेवा भी उनमें से एक होगी।

रिलायंस जियो इंफोकॉम की विशेषताएं:

- रियो इंफोकॉम पहली बार ग्लोबल स्तर पर सबसे बड़ी ग्रीन फील्ड एलटीई (लॉंग टर्म इवोल्यूशन) लांच करने जा रहा है। 

- रिलायंस जियो ने दुनिया का सबसे बड़ा एण्ड टू एण्ड आईपी नेटवर्क विकसित किया है। जिससे हाई क्वालिटी के साथ तेज कनेक्टिविटि हासिल होगी।

- भारत में पहली बार एलटीई डाटा- वॉयस, वीडियो और मैसेजिंग सर्विस लॉंच की जा रही है। 

- यह भारत का पहला ऐसा पहला 4 जी वायरलेस कवरेज नेटवर्क बृहद स्तर पर होगा। 

- रिलायंस जियो भारत की डिजिटल पॉवर्टी वाली छवि से बाहर लायेगा। ह भारत की मोबाइल ब्रॉडबैंड अवैलेबिलिटी की रैंक को भी सुधारने का प्रयास करेगा। अभी भारत 155वें पायेदान पर है। 

- रिलायंस जियो एण्ड टू एण्ड सोल्युशंस को फोकस करेगा।