लालू यादव की बढ़ी मुश्किलें, पार्टी की सदस्यता रद्द कर सकता है चुनाव आयोग

नई दिल्ली (16 अप्रैल): आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद  यादव की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रहीं है। चुनाव आयोग ने वर्ष 2014-15 का हिसाब-किताब न देने पर राष्ट्रीय जनता दल(राजद) को नोटिस जारी किया है। साथ ही 20 दिनों के भीतर इसका जवाब देने को कहा है। आयोग ने कहा कि जवाब न मिलने पर पार्टी का चुनाव चिह्न रद्द किया जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट के निदेर्शानुसार प्रत्येक पार्टी को हर वित्तीय वर्ष के अगले साल 31 अक्टूबर तक वार्षिक लेखा परीक्षा की रिपोर्ट पेश करनी होती है लेकिन राजद ने 31 अक्टूबर 2015 तक वर्ष 2014-15 के लिए अपनी रिपोर्ट नहीं पेश की।

चुनाव आयोग ने चेतावनी देते हुए कहा कि, अगर वह महीने 2014-15 की अपनी वार्षिक ऑडिट रिपोर्ट प्रस्तुत करने में विफल रहती है तो उसका चुनाव चिंह निलंबित कर दिया जाएगा। यह नोटिस चुनाव आयोग ने 13 अप्रैल को जारी किया था। आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आयोग सभी पार्टियों को समय-समय पर वार्षिक ऑडिट रिपोर्ट जारी करने के निर्देश जारी करता है। यह रिपोर्ट प्रतिवर्ष 31 अक्टूबर तक चुनाव आयोग में जमा करानी होती है।