ऋषि कपूर का खुलासा, दाऊद की जेब में हैं सफेदपोश

नई दिल्ली (15 जनवरी): तीन साल पहले ऋषि कपूर ने फिल्म डीडे में आतंकी दाऊद इब्राहिम का रोल निभाया था। उस डॉन के साथ बॉलीवुड का ये हीरो एक नहीं बल्कि दो-दो बार मिल चुका है। दाऊद ने ना सिर्फ ऋषि कपूर से मुलाकात की बल्कि डॉन के दिल में दबे कई सनसनीखेज राज भी खोले थे।

ऋषि कपूर डॉन के बंगले में चार घंटे तक खास मेहमान बनकर रहे। दाऊद ने ऋषि कपूर के साथ लंबी बातचीत की। इस चार घंटे की मुलाकात में दोनों ने कई कप चाय पी। डॉन ने ऋषि कपूर के जूतों का बिल तक पे करने की पेशकश की थी। दाऊद ने ऋषि कपूर को कई राज़ की बात बताईं थीं और यही राज़ की बातें ऋषि कपूर ने अपनी आत्मकथा खुल्लम खुल्ला ऋषि कपूर अनसेंसर्ड में लिख डाली हैं।

इस किताब में ऋषि कपूर ने लिखा है कि कैसे 28 साल पहले दुबई में उनकी मुलाकात अंडरवर्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से हुई थी। ऋषि कपूर ने अपनी आत्मकथा में लिखा है, ''शोहरत ने मुझे अच्छे लोगों के साथ ही संदिग्ध लोगों से भी मिलवाया। इनमें से एक था दाऊद इब्राहिम।''

साल 1988 की बात है जब ऋषि कपूर अपने करीबी दोस्त बिट्टू आनंद के साथ आशा भोंसले और आरडी बर्मन के प्रोग्राम में शामिल होने दुबई आए थे। दाऊद का एक आदमी हमेशा एयरपोर्ट पर रहता था। जब ऋषि कपूर वहां से जा रहे थे तो एक अजनबी उनके पास आया और फोन देकर बोला कि दाऊद साहब आपसे बात करेंगे।

दाऊद ने मुंबई ब्लास्ट 1993 में करवाए थे। इसलिए उससे पहले तक ऋषि कपूर भी दाऊद को भगोड़ा नहीं समझते थे। इसलिए वो दाऊद से बात करने और उससे मुलाकात करने के लिए तैयार हो गए। बाद में ऋषि कपूर को एक गोरे, मोटे लड़के से मिलवाया गया जो ब्रिटिश जैसा दिखता था। वह दाऊद का राइट हैंड बाबा था, उसने ऋषि कपूर से कहा कि दाऊद साब आपके साथ चाय पीना चाहते हैं। ऋषि कपूर को इसमें कोई बुराई नजर नहीं आई और ये न्यौता स्वीकार कर लिया।

हालांकि ऋषि कपूर ने अपनी आत्मकथा में ये नहीं बताया है कि दुबई में दाऊद का ठिकाना कहां था। उन्होंने कहा कि उस शाम मुझे और बिट्टू को हमारे होटल से एक चमकती हुई रोल्स रॉयस में ले जाया गया। रास्ते में हमें अहसास हुआ कि हमारी कार सर्कल में जा रही है। इसलिए मैं उसके घर की सही लोकेशन नहीं बता सकता।

ऋषि कपूर ने अपनी आत्मकथा में लिखा है कि दाऊद से उनकी पहली मुलाकात शानदार थी। दाऊद सफेद रंग की शानदार इटैलियन ड्रेस में आया और उसने गर्मजोशी के साथ हमारा स्वागत किया। उसने माफी मांगने के अंदाज में कहा, मैंने आपको चाय के लिए इसलिए बुलाया क्योंकि मैं शराब नहीं पीता। ऋषि कपूर और दाऊद के बीच चाय-बिस्किट का ये सेशन तकरीबन चार घंटे तक चला। उसने बहुत सी चीजों के बारे में बात की। उसने अपने जुर्म कबूल किए। उसने ये भी बताया कि मुंबई में कई लोगों को उसने खरीद रखा है और देश के कुछ सफेदपोश भी उसकी मदद के लिए हर समय तैयार रहते हैं।