ट्राफियों को मैेंं घर पर डोरस्टॉप्स की तरह इस्तेमाल करता हूं : ऋषि कपूर

नई दिल्ली (28 जनवरी) :  बॉलिवुड में दिए जाने वाले अवॉर्ड्स को लेकर अतीत में कई फिल्मी हस्तियां इनके बिकाऊ होने का आरोप लगा चुकी हैं। इस साल अभिनेता नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी भी ऐलान कर चुके हैं कि वो किसी कॉमर्शियल अवार्ड को अहमियत नहीं देंगे। दरअसल, नवाज़ुद्दीन इस बात को लेकर नाखुश है कि उनकी फिल्म 'मांझी: द माउंटेन मैन' का किसी भी अवॉर्ड्स फंक्शन ने नोटिस नहीं लिया।

फिल्म इंडस्ट्री में जिस तरह से अवॉर्ड दिए जाते हैं, उस पर अब अभिनेता ऋषि कपूर ने भी सवाल उठाया है। ऋषि कपूर ने कहा है कि ये अवॉर्ड प्रतिभा की पहचान के लिए नहीं बल्कि मनोरंजन के साधन और टाइम पास के लिए दिए जाते हैं।

'डीएनए' की रिपोर्ट के मुताबिक ऋषि कपूर ने कहा कि मुझे विश्वास नहीं हुआ कि हालिया एक अवॉर्ड समारोह में परिणीति चोपड़ा को वजन कम करने के लिए अवॉर्ड दिया गया। ऋषि कपूर ने चुटकी ली, क्या कोई उन्हें वजन बढ़ाने के लिए अवॉर्ड दे सकता है।  

ऋषि कपूर ने कहा, "मैं पॉपुलर अवॉर्ड्स में यकीन नहीं रखता था। लेकिन अब तो हालत और खराब हो गई है। अब मैं ट्रॉफियों को अपने घर में 'डोरस्टॉप्स' की तरह इस्तेमाल करता हूं। उन्होंने फिल्म अवॉर्ड के साथ जो किया है वो दुखद है। उन्होंने इसे शोपीस की तरह बना दिया है। शर्मनाक। अगर सबको खुश करना है तो फिर अवार्ड का मतलब क्या हुआ।"