'महामानव' बोल्ट ने रचा इतिहास, 100 मीटर में बनाई हैट्रिक

रियो (15 अगस्त): फर्राटा के बादशाह और 'महामानव' उसैन बोल्ट ने अपनी ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन करते हुए 100 मीटर की दौड़ में लगातार तीसरा स्वर्ण पदक जीतकर नया इतिहास रचा। जबकि दक्षिण अफ्रीका के वेड वान नीकर्क ने 400 मीटर में माइकल जॉनसन का लंबे समय से चला आ रहा रिकॉर्ड तोड़ा।

रियो ओलंपिक में जमैका के बोल्ट ने खचाखच भरे स्टेडियम में 100 मीटर के फाइनल में 9.81 सेकेंड का समय निकालकर सोने का तमगा हासिल किया। डोपिंग के दागी अमेरिकी धावक जस्टिन गैटलिन 9.89 सेकेंड के साथ दूसरे, जबकि कनाडा के आंद्रे डि ग्रेस 9.91 सेकेंड का समय लेकर तीसरे स्थान पर रहे। नीकर्क ने पुरुषों की 400 मीटर दौड़ 43.03 सेकेंड में पूरी की जो जानसन के पिछले रिकॉर्ड से 0.15 सेकेंड बेहतर है।

जॉनसन ने 1999 में सेविले में यह रिकॉर्ड बनाया था। ग्रेनाडा के मौजूदा चैंपियन किरानी जेम्स ने 43.76 सेकेंड के साथ रजत पदक जीता जबकि अमेरिका के लैशवान मेरिट (43.85 सेकेंड ) को कांस्य पदक मिला।

बीजिंग और लंदन में भी 100 मीटर का स्वर्ण पदक जीतने वाले बोल्ट ने दौड़ पूरी करने के बाद दर्शकों का आभार व्यक्त किया। बोल्ट ने अपने पारंपरिक ‘लाइटनिंग बोल्ट’ का पोज बनाया। उन्होंने पूरे स्टेडियम का चक्कर लगाया और यहां तक कि अपने प्रशंसकों के साथ सेल्फी भी खिंचवाई। उन्होंने बाद में कहा, यह बेहतरीन था। मैं बहुत तेज नहीं दौड़ा, लेकिन मैं जीता और इसलिए मैं खुश हूं। मैंने आपसे कहा था कि मैं खिताब जीतने जा रहा हूं। किसी ने कहा था कि मैं अमर बन सकता हूं। दो और पदक जीतकर मैं अमर बनकर विदाई ले सकता हूं।