रियो ओलंपिक: साक्षी ने रचा इतिहास, भारत के लिए जीता पहला कांस्य

नई दिल्ली (18 अगस्त): लंबे इंतजार के बाद भारत की झोली में पहला पदक साक्षी मलिक ने डाला। उन्होंने 58 किलोग्राम वर्ग के क्वार्टर फायनल में किरगिस्तान की टिनीबेकोवा को हराकर ये मैडल भारत के नाम किया। रियो में साक्षी मलिक ने पदक जीतकर इतिहास रच दिया। साक्षी ओलिंपिक में कुश्ती में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बन गईं।

यह ओलिंपिक खेलों में भारत का महिला कुश्ती में पहला तथा कुल मिलाकर पांचवां पदक है। इससे पहले रूस की वलेरिया कोबोलोवा से हार कर लगभग बाहर हो चुकी भारत की साक्षी मलिक के रिपेचेज राउंड में फिर से मौका मिला।  उन्होंने इस मौके का फायदा भी उठाया मंगोलिया की ओरखोन पुरेवदोर्ज 12-3 से हरा कर ब्रॉंज के सफर को आसान किया, लेकिन किरगिस्तान की रेसलर भी ठान कर आयी थी।

पहले राउंड में उसने साक्षी की मुश्कें कस कर रख दीं। पहले ही राउंड में साक्षी शून्य-5 से पिछड़ गयी। उस समय भारत की पदक की आशा धूमिल हो गयी थी, लेकिन साक्षी ने रिंग लौटते ताबड़ हमले किये और लगातार प्वाइंट जीत कर किरगिस्तान की पहलवान चित कर दिया और पदक भारत की झोली में डाल दिया।