रियो ओलंपिकः एयरपोर्ट उड़ाने से पहले धरा गया पाकिस्तानी आतंकी

नई दिल्ली (27 जुलाई): ओलंपिक खेलों की सुरक्षा के मद्देनजर दुनिया भर की खुफिया एजेंसियों ने ब्राजील सरकार को पाकिस्तानी नागरिकों पर खास निगाह रखने का सुझाव दिया है। एक तरफ जहां खूंखार आतंकी संगठन आईएस का खतरा है वहीं ऐसी आशंका भी है कि पाकिस्‍तानी मूल के नागरिक हमलों को अंजाम दे सकते हैं। 

- ब्राजील के काउंटर टेररिज्म के डायरेक्‍टर लुइज अलबर्टो ने  इस बात का खुलासा किया कि ओलिंपिक खेलों पर खतरे की बात सही है।

- इन्‍हीं खतरों के मद्देनजर ब्राजील की राष्‍ट्रीय खुफिया एजेंसी संदिग्‍ध इस्‍लामी चरमपंथियों की गतिविधियों पर नजर रखे हुए है। इनमें कई पाकिस्‍तानी भी शामिल हैं। 

- ब्राजील केअधिकारियों ने बताया क‍ि कई पाकिस्‍तानी 2014 के फीफा वर्ल्‍ड कप  के दौरान ब्राजील में आए थे, लेकिन वे वापस नहीं लौटे। इन पर नजर रखने की कोशिश की जा रही है।

- ब्राजील की पुलिस ने ऐंटी टेररेजम ऑपरेशन के दौरान हाल में ही 32 साल के एक पाकिस्‍तानी नागरिक को अरेस्‍ट किया है। आरोप है कि उसकी योजना ब्राजील की राजधानी स्थित एयरपोर्ट पर बम धमाका करने की थी। 

- इस पाकिस्‍तानी नागरिक और उसकी पत्‍नी से पूछताछ के दौरान पत्‍नी ने कबूल किया था कि वे एयरपोर्ट को उड़ाना चाहते थे और नरसंहार को अंजाम देना चाहते थे।