रियो ओलंपिक: कोच ने दीपा करमाकर को कर दिया कैद

नई दिल्ली (8 अगस्त): जिम्नास्टिक की वॉल्ट स्पर्धा के फाइनल में पहुंची भारत की दीपा कर्मकार को कोच बिशेश्वर नंदी ने कमरे में कैद कर दिया है। उसके मोबाइल फोन से सिम निकाल लिया गया है। बाहरी लोगों से मिलने-जुलने और बात-चीत करने पर रोक लगा दी है। दरअसल, नंदी उन्हें प्रताड़ित नहीं कर रहे बल्कि फाइनल में उनकी परफॉरमेंस बेहतर रहे इसलिए उन्होंने कुछ कड़े कदम उठाए हैं।   14 अगस्त को वॉल्ट फाइनल्स है। इसलिए कोच नंदी चाहते हैं कि दीपा का ध्यान न बंटे और वो अपना अच्छा प्रदर्शन करे। दीपा आज 23 वर्ष की हो जाएंगी और उन्हें सिर्फ उनके माता-पिता ही शुभकामनाएं दे पाएंगे।

दीपा वॉल्ट फाइनल्स में इतिहास रचने की दहलीज पर महैं। दीपा के साथ उनके कमरे में साथी भारतीय महिला भारोत्तोलक साईखोम मीराबाई चानू हैं। उनके अलावा नंदी उनके साथ हैं, जो पिछले 16 साल से उनके साथ ही हैं। दीपा ने कलात्मक जिमनैस्टिक के वॉल्ट फाइनल्स में प्रवेश किया, जिससे देशवासियों की उनसे काफी उम्मीदें लगी हुई हैं।