आप को घेरने के लिए बीजेपी ने उठाया 'RIGHT TO RECALL' का मुद्दा

नई दिल्ली (13 सितंबर): दिल्ली किलर मच्छर से बेहाल है, हर तरफ हाहाकाकर मचा हुआ है। डेंगू और चिकनगुनिया से लोगों की जान जा रही है, हालात बेहद गंभीर है, लेकिन जिम्मेदार लोग नदारद हैं। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इस वक्त केजरीवाल का सिर्फ एक मंत्री दिल्ली में मौजूद हैं और वो हैं कपिल मिश्रा। बाकी सब दिल्ली से बाहर हैं।

दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग विदेश में हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बेंगलुरु में हैं। डिप्टी सीएम मनीष सिसौदिया भी फिनलैंड में हैं। दिल्ली के परिवहन मंत्री गोपाल राय 4 दिन से छत्तीसगढ़ में हैं। वहीं खाद्य आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन हज यात्रा पर गए हुए हैं। दोपहर तक स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन भी गोवा में थे, लेकिन कुछ देर पहले वो दिल्ली लौट आए हैं।

इस वक्त दिल्ली में सिर्फ दो मंत्री हैं सत्येंद्र जैन और कपिल मिश्रा। इन्हीं के हवाले दिल्ली है। ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि जब सभी जिम्मेदार लोग बाहर हैं तो फिर यहां लोगों के लोगों की खबर कौन लेगा। जाहिर है दिल्ली के लोग इस वक्त भगवान भरोसे हैं। ऐसे में आप पर बीजेपी ने निशाना साधना शुरू कर दिया है। बीजेपी ने एक पोस्टर के जरिए दिल्ली में 'राइट टू रिकाल' की आवाज उठाई है।

आपको बता दें कि समाजसेवी अन्ना हजारे अपने आंदोलन के दौरान 'राइट टू रिकाल' की बात करते थे। उनका कहना था कि अगर किसी प्रदेश की जनता अपने प्रतिनिधियों को बदलना चाहती है तो उसे यह हक मिलना चाहिए। उस समय उनके साथी रहे अरविंद केजरीवाल भी इस बात का समर्थन करते थे। ऐसे में 'राइट टू रिकाल' के नाम पर दिल्ली बीजेपी ने आप पार्टी को घेरना शुरू कर दिया है।