प्राईवेसी पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आज

नई दिल्ली (24 अगस्त): प्राइवेसी बुनियादी हक (फंडामेंटल राइट) है या नहीं? इस पर सुप्रीम कोर्ट गुरुवार को फैसला सुना सकता है। 3 हफ्ते की सुनवाई के बाद 2 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। चीफ जस्टिस जेएस खेहर की अध्यक्षता वाली 9 जजों की कॉन्स्टिट्यूशन बेंच इस मामले पर सुनवाई की थी। राइट टू प्राइवेसी का मुद्दा तब उठा, जब सोशल वेलफेयर स्कीम्स का फायदा उठाने के लिए आधार को केंद्र ने जरूरी कर दिया और इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में पिटीशंस दायर की गईं। इन पिटीशंस में आधार स्कीम की कॉन्स्टिट्यूशनल वैलिडिटी को यह कहकर चैलेंज किया गया कि ये प्राइवेसी के बुनियादी हक के खिलाफ है।