JNU के बाद इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में हुआ बवाल

नई दिल्ली (5 मार्च): जेएनयू का मुद्दा अभी शांत भी नहीं हुआ कि इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की पहली महिला छात्रसंघ अध्यक्ष ऋचा सिंह के दाखिले पर बवाल शुरू हो गया है। ऋचा सिंह के दाखिले को इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की जांच टीम ने गलत बताया है।

सूत्रों की मानें तो यूनिवर्सिटी प्रशासन ने जांच में ऋचा के दाखिले में गड़बड़ी पाई है। यूनिवर्सिटी प्रशासन की लीक हुई जांच रिपोर्ट के अनुसार ऋचा को मार्च 2014 में डीफिल में आरक्षित सीट पर दाखिला दिया गया था, यह गलत है। जांच कमेटी ने अपनी रिपोर्ट वीसी को सौंप दी है, लेकिन वीसी के छुट्टी पर रहने के कारण फिलहाल इस पर कोई फैसला नहीं हो सका है।

ऋचा का आरोप है कि जेएनयू, रोहित वेमुला के मामले पर आवाज उठाने और एबीवीपी का विरोध करने के कारण केंद्र के इशारे पर उन्हें निशाना बनाने की तैयारी की जा रही है। ऋचा ने कहा कि अगर उन्हें आरक्षित सीट पर दाखिला दिया गया है तो इसमें उनकी नहीं बल्कि यूनिवर्सिटी प्रशासन की गलती है।