अयोध्या सिंह ने साबित किया पढ़ाई की कोई उम्र नहीं, 77 साल की उम्र में कर रहे MA की पढ़ाई

न्यूज 24 ब्यूरो, हरिप्रकाश सिंह राजा, रीवा  ( 21 सितंबर ): पढ़ाई की उम्र नहीं होती रीवा के अयोध्या सिंह ने यह कर दिखाया है। रीवा जिले के गोविंदगढ़ थाना के अन्तर्गत वाले गांव डिहिया के रहने वाले अयोध्या सिंह 77 वर्ष की उम्र में समाजशास्त्र से एमए की पढ़ाई कर रहे हैं। 7 अगस्त 2018 को उन्होंने एमए में दाखिला लिया।अयोध्या सिंह का जन्म 1942 में हुआ था। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा डिहिया से हासिल की। उसके बाद उन्होंने सन 1969 में बीए तथा 1973 में एमए राजनीति शास्त्र से पढाई पूरी की। उनकी शिक्षा विभाग में जुलाई 1961 में नौकरी लगी। तब से लेकर अब शिक्षक के तौर कई स्कूलों में कार्य किए और छात्रों को शिक्षा देते रहे।वह पूरा जीवन छात्रों के बीच रहे। शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय डिहिया से अयोध्या सिंह 2004 सेवानिवृत्त हो गये। अयोध्या सिंह ने बताया कि एक दिन मैं अखबार पढ़ रहा था तो एक विज्ञापन छपा था कि किसी भी उम्र में पढाई कि जा सकती है। इसके बाद मेरे मन में ख्याल आया कि मैं भी पढूंगा। उसके बाद सभी रिकार्ड एकत्रित किये और ठाकुर रणमतसिंह महाविद्यालय पहुंचा और काॅलेज पहुंच कर आवेदन जमा किया। वहां लोग मुझे ऐसे देख रहे थे मैं मनुष्य नहीं हूं। आखिर में 7 अगस्त 2018 को काॅलेज में नियमित छात्र के रूप में दाखिला ले लिया। अब मैं समाजशास्त्र से एमए की पढ़ाई कर रहा हूं।77 वर्षीय अयोध्या सिंह दूसरे छात्रों की तरह ड्रेस में नियमित काॅलेज आते हैं और अपने नाती-पोतों की उम्र के छात्रों के साथ कक्षा में पढ़ाई करते हैं। आपको बता दें कि अयोध्या सिंह 77 वर्ष की उम्र में अपने गांव डिहिया से 30 किमी रीवा मोटरसाइकिल चलाकर पढ़ाई करने जाते हैं। उन्होंने यह साबित कर दिया कि हौसला बुलंद हो तो कोई भी रास्ता कठिन नहीं है। आज के छात्रों को इनसे एक नई सीख और ऊर्जा मिलती है।