नए साल में भी नहीं मिलेगी राहत, जारी रहेगी कैश की दिक्कत

नई दिल्ली(25 दिसंबर): पीएम मोदी ने 8 नवंबर को नोटबंदी के ऐलान के बाद देश की जनता से 50 दिनों तक दिक्कत सहने का ऐलान किया था। 50 दिन की डेडलाइन खत्म होने में 5 दिन बाकी हैं। ऐसे में देश की जनता उम्मीद लगाई बैठी है कि 31 दिसंबर से सब कुछ सामान्य हो जाएगा, लेकिन अब लोगों की उम्मीदों को झटका लगने वाला है। 

ताजा जानकारी के मुताबिक 30 दिसंबर के बाद भी कैश की कमी दूर नहीं होने वाली। आरबीआई नई करेंसी को मांग के हिसाब से उस गति से नहीं छाप पा रहा है। कैश की कमी के कारण कई जगहों पर बैंक एक हफ्ते में 24 हजार देने की सीमा को पूरी नहीं कर पा रहे हैं।

बता दें हाल ही में एसबीआई चीफ अरुंधती भट्टाचार्य ने भी कहा था कि नकद निकासी पर पाबंदी तबतक खत्म नहीं होगी जबतक बैंकों के पास पर्याप्त कैश नहीं आ जाएगा। हमें देखने पड़ेगा, अगर कैश होगा तो हम दे देगें और अगर नहीं हुआ तो हम नहीं दे पाएंगे। हम केवल उतना ही कैश दे सकते हैं जितना हमारे पास मौजूद होगा।