OMG! अब रेस्टोरेंट में खाना-पीना होगा महंगा

नई दिल्‍ली (16 अप्रैल): मोदी सरकार खाने-पीने की चीजों पर वसूले जा रहे सर्विस चार्ज को खत्म करने के लिए जल्द ही एडवाइजरी जारी करेगी। दूसरी ओर रेस्टोरेंट मालिक इसकी भरपाई का रास्ता निकाल में जुट गए हैं। होटल कारोबारी सर्विस चार्ज हटने पर खाने-पीने की चीजों के दाम बढ़ाने की तैयारी कर रहे हैं।


खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा, ‘सर्विस टैक्स जैसा कुछ नहीं है। यह गलत तरीके से वसूला जा रहा है। हमने इस मुद्दे पर एक एडवाइजरी तैयार किया है।'


- किसी भी उपभोक्ता को सर्विस टैक्स चुकाने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता।

- यदि उपभोक्ता चाहे तो वह होटल कर्मी को टिप दे सकते हैं या सर्विस टैक्स बिल में ही वसूलने के लिए अपनी सहमति दे सकते हैं।

- बिना ग्राहक की अनुमति के सर्विस टैक्स वसूली उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के तहत अनुचित व्यापार प्रक्रिया मानी जाएगी।

- सेवा शुल्क के बारे में ग्राहकों को मेनू कार्ड में ही जानकारी दी जानी चाहिए।

- सर्विस चार्ज का पैसा वेटर और कर्मचारियों के बीच ही बंटता है।

- इससे उन्हें महीने के 2,000 रुपए तक की कमाई हो जाती थी।

- अब इसकी भरपाई रेस्टोरेंट मालिक को ही करनी, क्योंकि कर्मचारी अपनी सैलरी बढ़ाने का दबाव बनाएंगे।