भारत बंद : बिहार के आरा में पत्थरबाजी-फायरिंग

नई दिल्ली(10 अप्रैल): सोशल मीडिया पर आज भारत बंद का मेसेज वायरल हो रहा है। जिसे लेकर 4 बड़े राज्यों की पुलिस की नींद उड़ गई है। सोशल मीडिया पर ये अफवाह किसने फैलाई है ये पता नहीं चल सका है लेकिन सरकार कोई जोखिम नहीं उठाना चाहती। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इससे निपटने के लिए एडवाइजरी जारी की है। तमाम राज्यों को सावधान किया गया है। 

2 अप्रैल को दलितों के भारत बंद के दौरान देश के कई हिस्से हिंसा की आग में झुलस गए। कई जगह खूनी झड़पें हुईं जिसमें कईयों की जान गई। अब सोशल मीडिया पर एक और बंद का मैसेज वायरल हो रहा है। ये संदेश है 10 अप्रैल को भारत बंद करने का है। सोशल मीडिया पर इसे आरक्षण के विरोध में सवर्णों के भारत बंद का नाम दिया गया । लेकिन अब तक ये साफ नहीं हुआ कि किसने फैलाई है आज के भारत बंद की अफवाह? लेकिन, सोशल मीडिया पर भारत बंद की चर्चा से केंद्र सरकार अलर्ट हो गयी है । 
इस दौरान कहीं कोई गड़बड़ी ना होने पाए। इसके लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकारों को एडवाइजरी भेजी है।

UPDATES...

बिहार के आरा में पत्थरबाजी-फायरिंग

- मध्य प्रदेश के भिंड और मुरैना में कर्फ्यू लगाया गया। 

- सोशल मीडिया पर आज बंद के इस वायरल मेसेज के बाद मध्यप्रदेश सरकार सबसे ज्यादा अलर्ट है। किसी भी तरह की हुड़दंग और हिंसा को रोकने की पूरी तैयारी कर ली गई है। 
ग्वालियर, भिंड और मुरैना में धारा 144 लगा दी गयी है। यानी एक साथ 5-6 से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकते हैं। इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। 

- ग्वालियर में हुड़दंगियों की हर साजिश नाकाम करने के लिए 2 हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। राजस्थान पुलिस ने भी पूरी तैयारी कर रखी है। रैपिड एक्शन फोर्स के जवान जयपुर की सड़कों पर फ्लैग मार्च कर रहे हैं। चप्पे-चप्पे पर नजर रखने के लिए बड़ी तादाद में पुलिस बल को तैनात किया गया है। हर संवेदनशील जगह के लिए पुलिस-प्रशासन ने खास रणनीति बनाई है जिससे किसी भी तरह कि हिंसा को रोका जा सके।

- भरतपुर में भारी पुलिस बल के साथ ही बीएसएफ की 3 कंपनियां तैनात की गई हैं। अलग-अलग संगठनों और लोगों से अपील की गई है कि बंद की अफवाह पर ध्यान ना दें और शांति बनाए रखें। 

- भारत बंद की अफवाह को देखते हुए बिहार पुलिस ने भी सूबे के जिलो के लिए अलर्ट जारी किया है। पुलिस को उपद्रवियों से सख्ती से निपटने के निर्देष दिए गए हैं। साथ ही बिहार पुलिस के अतिरिक्त पुलिस बल भी मुहैया कराया गया है।