मिनी बुलेट ट्रेन पहुंची भारत, राजधानी एक्सप्रेस से डेढ़ गुना तेज़ है इसकी रफ्तार

नई दिल्ली (20 मई): भारत में बुलेट ट्रेन का सपना साकार होने में अभी समय लगेगा, लेकिन उससे पहले हाइस्पीड ट्रेनों के फर्राटे भरने का सिलसिला शुरु हो चुका है। पहले गतिमान एक्सप्रेस और अब टेलगो ट्रेन। टेलगो ट्रेन जो स्पीड के मामले में राजधानी और गतिमान एक्सप्रेस से काफी आगे है। ये ट्रेन 200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकती है। इस स्पीड पर दिल्ली से मुंबई का सफर 7 घंटे में तय हो सकता है।

ये तस्वीर बरेली की हैं। जहां ट्रायल के लिए भारत की मिनी बुलेट ट्रेन के डिब्बे पहुंच चुके हैं। ये हाईस्पीड ट्रेन स्पेन की टेलगो कंपनी की है। टेलगो कंपनी मेक इन इंडिया प्रोग्राम के तहत देश में इस हाइस्पीट ट्रेन का ट्रायल करने जा रही है। 

भारत की मिनी बुलेट ट्रेन > टेलगो ट्रेन के तीन ट्रायल होंगे। > पहला ट्रायल बरेली से मुरादाबात के बीच होगा। > बरेली से मुरादाबाद के बीच 115 किमी प्रति घंटा रफ्तार होगी। > मथुरा से पलवल के बीच दूसरे ट्रायल में स्पीड 180 किमी प्रतिघंटा होगी।  > मई महीने में ही मथुरा से पलवल के बीच ट्रायल होगा। > दिल्ली से मुंबई के बीच तीसरा ट्रायल होगा। तीसरे ट्रायल में ट्रेन की स्पीड 200 किमी प्रतिघंटा होगी।

तीन बार ट्रायल क्यों अलग-अलग स्पीड में अलग-अलग ट्रैक्स पर ट्रेन का ट्रायल करने का मकसद ट्रेन और ट्रैक्स के हर पहलू की जांच करना है। ट्रायल के ज़रिए ये साफ हो पाएगा कि मौजूदा ट्रैक्स पर टेलगो ट्रेन अपनी मैक्सिम स्पीड में दौड़ सकती है या नहीं। अधिकतम स्पीड में ट्रेन के दौड़ने के दौरान कई मानको पर ट्रेन और ट्रैक्स को परखा जाएगा। इस प्रोजेक्ट से जुड़े लोगों का कहना है कि टेलगो ट्रेन को बिना किसी बदलाव के भारतीय पटरियों पर 160 से 200 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ाया जा सकता है।

बरेली में टेलगो ट्रेन के जो कोच पहुंचे हैं वो पहले बार्सिलोना से शिप के ज़रिए मुंबई बंदरगाह पहुंचे। ट्रायल के लिए टेलगो ट्रेन के कुल 9 कोच भारत आए हैं। मुंबई होते हुए ये कोच अब बरेली पहुंचे हैं।

> इज्जतनगर रेल कारखाने में टेलगो ट्रेन की एसेंबलिंग की जाएगी। > एसेंबलिंग होने के बाद इन्हें ट्रायल के लिए ट्रैक्स पर उतारा जाएगाष। > एसेंबलिंग और ट्रायल के लिए स्पेन की टीम भी बरेली पहुंची है। > बरेली में पहली बार किसी विदेशी ट्रेन की एसेंबलिंग की जा रही है।

दिल्ली से मुंबई के बीच टेलगो ट्रेन का ट्रायल जून में होने की संभावना है। ये टेलगो ट्रेन का तीसरा ट्रायल होगा जिसमें ये ट्रेन अपनी फुल स्पीड में दौड़ेगी। अगर ट्रायल सफल रहा और टेलगो ट्रेन को इस रूट पर दौड़ने के लिए हरी झंडी मिली तो दिल्ली से मुंबई तक के सफर में कई घंटे का अंतर आ जाएगा।

दिल्ली से मुंबई 7 घंटे में दिल्ली-मुंबई रूट पर सबसे तेज राजधानी एक्सप्रेस की रफ्तार 130 किमी प्रतिघंटा है। दिल्ली से मुंबई की दूरी 1400 किमी है। 130 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से राजधानी 17 घंटे में मुंबई पहुंचाती है। टेलगो ट्रेन की रफ्तार राजधानी से डेढ़ गुना ज्यादा है। 200 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से टेलगो ट्रेन 7 घंटे में मंबई पहुंचा देगी।