2.7 लाख लोगों ने तैयार किया मोदी के मंत्रियों का रिपोर्ट कार्ड, पढ़िए, किसने किया टॉप

नई दिल्ली (30 जून): नरेंद्र मोदी सरकार के दो साल पूरे होने पर सरकार की तरफ से एक सर्वे कराया गया। इसमें 2.7 लाख लोगों ने अपनी फीडबैक और रेटिंग दी है। MyGov नाम के पोर्टल पर करीब एक महीने तक चले इस सर्वे में लोगों ने मोदी सरकार की विदेश नीति और रेलवे के आधुनिकीकरण को सबसे ज्यादा रेटिंग दी है। 

सरकार के दो साल पूरे होने पर सरकार के एक पोर्टल के सर्वे में विदेश, रेलवे और रोड एंड ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री को फाइव स्टार रेटिंग दी गई है। हालांकि, स्मृति ईरानी की एचआरडी मिनिस्ट्री इस मामले में पिछड़ गई है। MyGov पोर्टल का एक महीने चला यह सर्वे गुरुवार को खत्म हुआ। 

इस सर्वे में दो लाख सत्तर हजार लोगों ने मोबाईल फोन और वेवसाइट के जरिए हिस्सा लिया। सर्वे में लोगों से सरकार की 15 कोशिशों पर रेटिंग मांगी गई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अपने कैबिनेट में फेरबदल में इसकी रेंटिंग को भी आधार बनाया जा सकता है।

पोर्टल के सर्वे के रिजल्ट आउट होते ही कई मंत्रालयों में बैठे मंत्रियों और हुक्काम की खुशियों से चेहरे खिल गए होंगे लेकिन कई ऐसे मंत्रालयों का कामकाज भी सामने आया है जिसमें बहुत सुधार की जरूरत की जरूरत है। 

सर्वे के मुताबिक  > 2 लाख 70 हजार लोगों ने इस सर्वे में हिस्सा लिया। > इसमें सुषमा स्वराज नंबर वन पर हैं, विदेश मंत्रालय ने अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभायी है, सबसे ज्यादा 76 फीसदी नंबर मिले।  > दूसरे नंबर पर रहे सुरेश प्रभु, सुरेश प्रभु के रेल मंत्रालय को 75 फीसदी नंबर से नवाजा गया। > सर्वे में नितिन गडकरी तीसरे नंबर हैं, गडकरी के हाई वे मंत्रालय का परफोर्मेंस भी अच्छा रहा है, 73 फीसदी नंबर मिले। > चौथे नंबर पर मेकइन इंडिया को जगह मिली है, इस योजना पर तीन मंत्रालय काम कर रहे हैं, इसमें निर्मला सीतारमन, अरूण जेटली, प्रकाश जावडेकर का मंत्रालय शामिल हैं , सर्वे में इसे 74 फीसदी नंबर मिले। > बिजली में सुधार करने की कोशिश को सर्वे में 51 फीसदी लोगों ने 5 स्टर रेटिंग दी है।  > भ्रष्टाचार पर लगाम कसने की मोदी सरकार के पहल को 49 फीसदी लोगों ने 5 स्टार रेटिंग दी है।  > व्यापार आसान करने की दिशा में उठाए गए कदम को 47 फीसदी लोगों की तरफ से 5 स्टार रेंटिग मिली है  > स्‍मृति ईरानी की एचआरडी मिनिस्‍ट्री की ओर से एजुकेशन क्वालिटी सुधारने की कोशिश को सर्वे में शामिल 35 फीसदी लोगों ने 5-स्टार रेटिंग दी है।  > मोदी सरकार के जरिए ब्लैक मनी पर लगाम लगाने की कोशिशों को 31 फीसदी लोगों की तरफ से 5 स्टार रेटिंग मिली है। 

सरकार इस रेटिंग को अच्छा मान रही है लेकिन विपक्ष इसे RSS आयोजित सोशल नेटवर्किग का हिस्सा मान रही है और इसकी निष्पक्षता पर सवाल खड़े कर रही है। इस सर्वे के बाद मोदी सरकार फील गुड का एहसास कर सकती है लेकिन उन मंत्रियों ये सर्वे गाज बनकर गिरेगा जिसका परफोर्मेंस खराब आंका गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अपने कैबिनेट में फेरबदल में इस रेटिंग का असर जरूर पड़ेगा।