रेप मामले पर रेणुका चौधरी का पीएम पर हमला, कहा- शिकायत करने थाने जाओ, तो पूछते हैं ‘कितने आदमी थे’

नई दिल्ली(22 अप्रैल): देश में गैंगरेप की बढ़ती घटनाओं पर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार को घेरा है। रेणुका चौधरी ने कहा है कि आज कल कोई महिला बाहर नहीं निकलती है। आज के दिन जब लड़की घर से बाहर निकलती है और उसका बलात्कार हो जाता है। थाने में जब जाते हैं, तब यही पूछा जाता है कि ‘कितने आदमी थे’। 

- कांग्रेस नेता ने इसी के साथ पीएम मोदी पर भी हमला बोला। बताया कि पीएम को इस माहौल में विदेश में घूम रहे हैं। महिलाओं का सम्मान क्या होता है, उन्हें यह नहीं पता है। वह महिला विरोधी पीएम हैं। 

- आपको बता दें कि हाल ही में देश गैंगरेप की कुछ जघन्य घटनाओं से दहला हुआ है। उत्तर प्रदेश के उन्नाव से लेकर जम्मू-कश्मीर के कठुआ तक। गुजरात के सूरत से मध्य प्रदेश के इंदौर तक, मासूमों के साथ दरिंदगी की गई। विपक्षी दल इसी मसले को लेकर केंद्र सरकार पर दबाव बना रहे हैं।

- रेणुका शनिवार को बिहार की राजधानी पटना में थीं। वह राज्यसभा सांसद भी हैं। बीजेपी से अलग होने वाले यशवंत सिन्हा की पार्टी राष्ट्र मंच की प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा, “मैं भाइयों को याद कर रही हूं, क्योंकि बहनें बहुत कम आती हैं बाहर आज कल। यह माहौल केवल बिहार में नहीं है, बल्कि देश भर में है। महिलाएं आज कल बाहर नहीं निकलतीं। एक जमाने में शोले फिल्म में वो क्या था शत्रुघ्न जी? हां, अरे ओ सांबा। कितने आदमी थे। मगर आज के दिन जब लड़की बाहर निकलती है और उसका बलात्कार हो जाता है, तब थाने में लोग यही सवाल करते हैं कि बेटी कितने आदमी थे।”

- उन्होंने इसी के साथ प्रधानमंत्री पर बड़ा हमला बोला। कहा, “इस माहौल में देश के प्रधानमंत्री को विदेश जाने का बड़ा शौक है। मगर कभी आकर इन परिवारों से, उनकी मां से पूछा तक नहीं कि क्या हुआ, कैसे हुआ और क्यों हुआ। क्यों हुआ का जवाब तो देते हैं। कहते हैं कि औरत का कसूर है। उन्हीं की वजह से हुआ है।”

- बकौल रेणुका, “महिला का सम्मान क्या होता है, प्रधानमंत्री को क्या पता होगा। उनकी की तो कोई बेटी नहीं है। उनको बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ से कोई मतलब नहीं है। उन्होंने तो अपनी पत्नी तक छोड़ दी। पब्लिसिटी स्टंट के चक्कर में वह अपनी मां तक को लाइन में लगवा चुके हैं। नरेंद्र मोदी एक महिला विरोधी पीएम हैं।”