मौत से पहले वेलजीभाई मतिया ने बता दी थी कब होगी उनकी मौत ?

भूपेंद्र ठाकुर, कच्छ (16 अप्रैल): गुजरात के कच्छ से एक चौंकाने वाली खबर आई है। एक धर्मगुरु के भक्तों ने दावा किया है कि उनके धर्मगुरु की मौत उसी तारीख को हुई, जिस तारीख पर उन्होंने अपनी मौत की भविष्यवाणी की थी। दावा है कि मौत से 15 दिन पहले ही इस धर्मगुरु ने अपनी मौत की जानकारी दे दी थी। हज़ारों लोग इस धर्मगुरू के अंतिम दर्शन के लिए जमा हो रहे हैं।


गुजरात के कच्छ के मुद्रा तहसील के रहने वाले वेलजीभाई मतिया जो महेश्पंथी समुदाय के लोगों के धर्मगुरु थे। 70 साल के वेलजीभाई के हज़ारों भक्त हैं, भगवान की तरह इनकी पूजा करते थे। कहा जा रहा है कि 15 दिन पहले ही इन्होंने कह दिया था कि चतुर्थी के दिन ही उनकी मौत होगी य़ानि 15 अप्रैल को देहत्याग करेंगे।


जब मंदिर के पास बैठकर वेलजीभाई मतिया ने अपनी मौत की भविष्यवाणी की थी। उस वक्त इनके आसपास लोग भी मौजूद थे। भक्तों ने बाकायदा इसे रिकॉर्ड कर लिया था। अब भक्त दावा कर रहे हैं कि ठीक वैसा ही हुआ जैसा उन्होंने कहा था। भविष्यवाणी सच होने के बाद भक्त काफी हैरान हैं। उनकी अस्था उनमें और ज़्यादा गहरी हो गई है।


भक्त कहते हैं कि अंतिम संस्कार कैसे करना है और कहां करना है ये भी उन्होंने बता दिया था। अब उन्हीं के बताए तरीकों के मुताबिक अंतिम संस्कार किया जा रहा है, जहां अंतिम संस्कार हो रहा है वहीं उनका भव्य आश्रम बनाया जाएगा। भक्तों ने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी है।


धर्मगुरू की भविष्यवाणी सच होने की चर्चा पूरे गुजरात में हैं। नरेश महेश्वरी को देखने के लिए भारी संख्या में लोग कच्छ पहुंच रहे हैं। हर कोई इस चमत्कारी पुरूष का आखिरी दर्शन करना चाहता है। उनकी भविष्यवाणी के बाद यानि एक अप्रैल से ही लोग यहां जमा होना शुरू हो गए थे। लोग ये जानना चाहते थे कि क्या वाकई ऐसा हो सकता है। भक्तों के दावे के मुताबिक ऐसा ही हुआ 15 अप्रैल को शाम 6 बजकर 5 मिनिट पर अचानक अपने आनुयायी दर्शन देते समय उन्हों ने अपना देहत्याग दिया, जिसके बाद अनुयायों ने उनके जयजयकार के नारे लगाए। अंतिम दर्शन के लिए उनकी पालखी यात्रा निकली गई जिसमें लाखो की तादाद में महेशपंथी समुदाय के लोग मौजूद थे।


कहा जाता है कि कोई भी अपनी मौत के बारे में बता नहीं सकता है। लेकिन कुछ लोगों की अस्था है कि कई बार ऐसी घटनाएं हुई हैं जिसमें मरने वाले को आभास हो जाता है। कोई मौत की तारीख बता दे इस पर यकीन नहीं किया जा सकता। रिसर्च करने वाले कहते हैं ना कोई धर्मगुरू और ना ही कोई वैज्ञानिक अब तक अपनी या किसी की मौत की तारीख बता नहीं पाया है। अगर कच्छ के धर्मगुरू की भविष्यवाणी सच हुई है तो हैरान करने वाला है।