अब 'जियो' स्पीड से भागेगा इंडिया, टेलीकॉम मार्केट में भारी हलचल

नई दिल्ली (5 सितंबर): रिलायंस की महात्वाकांक्षी परियोजना जियो इंफोकॉम अपनी 4जी सर्विसेज सोमवार को लॉन्च कर दी है। इस सर्विस से टेलीकॉम मार्केट में वॉइस और डेटा मार्केट में सस्ते ऑफरों का बोलबाला होगा। मुकेश अंबानी की कंपनी जियो का मैनेजमेंट 10 करोड़ कस्टमर्स हासिल करने के लिए फ्री कॉल्स और डेटा के अपने शुरुआती ऑफर पर दांव लगा रहा है।

मीडिया में आई रिपोर्ट के मुताबिक, भारती एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया जैसी जियो की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों को भी दरें घटाने पर मजबूर होना पड़ेगा, जिससे उनकी वित्तीय स्थिति को झटका लग सकता है। 

अर्न्स्ट एंड यंग में ग्लोबल टेलीकॉम लीडर प्रशांत सिंघल का मानना है कि जियो की आक्रामक प्राइसिंग पॉलिसी से मौजूदा ऑपरेटर्स के मुनाफे और उनके भविष्य को लेकर चुनौतियां बढ़ेंगी, जबकि डेलॉयट हैस्किंस एंड सेल्स एलएलपी में पार्टनर हेमंत जोशी ने कहा कि इससे टेलीकॉम सेक्टर की दिशा-दशा बदल जाएगी क्योंकि नई टेक्नॉलजी से पूरा मामला उलट जाता है।

हालांकि, 'जीएसएम इंडस्ट्री बॉडी सेल्युलर ऑपरेटर्स असोसिएशन ऑफ इंडिया' के डायरेक्टर जनरल राजन मैथ्यूज ने कहा कि जियो के ऑफर के साथ तेज कॉम्पिटीशन की शुरुआत हो चुकी है और भारती एयरटेल, वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर निश्चित तौर पर अपने मिड और हाई एंड कस्टमर्स को कायम रखने के लिए रेट के स्तर पर जियो से बराबरी करने की कोशिश करेंगी।

जियो ने अपना टैरिफ प्लान टेलीकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) को दे दिया है, जिसमें फ्री वॉइस कॉल देने और मोबाइल इंटरनेट मौजूदा मार्केट रेट से 20 फीसदी कम पर देने का वादा किया गया है। फ्री ऑफर बंद होने के बाद कई तरह के एंटरटेनमेंट ऑप्शन देने की बात भी कही गई है।