Jio से मुनाफा आसान नहीं, रिलायंस को चाहिए 8 करोड़ ग्राहक!

नई दिल्ली (2 सितंबर): इस समय देश के टेलीकॉम सेक्टर में एक ही नाम चर्चा में है- रिलायंस जियो। कंपनी ने भले ही तमाम कंपनियों को गच्चा देते हुए लंबे-चौड़े ऐलान किए हों, लेकिन उसे प्रॉफिट की स्थिति में आने के लिए दो से तीन साल में 7.5 से 8 करोड़ उपभोक्ताओं की जरूरत होगी।

- रिपोर्ट के मुताबिक, मार्केट के विश्लेषकों का कहना है कि जियो को लाभ की स्थिति में आने के लिए करीब 8 करोड़ ऐसे ग्राहकों की जरूरत होगी। जो मासिक 180 रुपये तक खर्च करते हों। - रिलायंस इंडस्ट्रीज की दूरसंचार इकाई ने जीवनभर के लिए वॉयस कॉल और रोमिंग सेवाएं मुफ्त में देने की पेशकश की है। - इसके अलावा उसने डेटा शुल्क मौजूदा दरों का 10 प्रतिशत रखने का ऐलान किया है।  - रिलायंस इंडस्टरीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने गुरुवार को कंपनी की सालाना बैठक को संबोधित करते हुए कहा था कि कंपनी जितनी जल्दी हो सके, 10 करोड़ ग्राहकों का लक्ष्य लेकर चल रही है। - बाजार विश्लेषकों ने इसे कंपनी का 'नॉकआउट पंच' करार दिया है। उनका मानना है कि भारती एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया सेल्युलर जैसी मौजूदा कंपनियां अपनी बाजार हिस्सेदारी कायम रखने के लिए अगले कुछ दिन में नई मूल्य और बाजार रणनीति की घोषणा करेंगी।