GST लॉन्चिंग से पहले 1 लाख फर्जी कंपनियों पर लगाया ताला: पीएम मोदी

नई दिल्ली(2 जुलाई): देशभर में 1 जुलाई से जीएसटी हो गया है। जीएसटी लॉन्चिंग के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक और ऐतिहासिक आयोजन में हिस्सा लिया और उन्होंने चार्टर्ड अकाउंटेंट के नए कोर्स का विमोचन किया।


शनिवार को इस मौके पर पीएम मोदी ने करप्शन और ब्लैकमनी के खिलाफ अपनी सरकार के अभियान की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, 'एक तरफ पूरी सरकार, मीडिया और व्यापारी जगत का ध्यान 30 तारीख को रात 12 बजे पर था। लेकिन, इससे 48 घंटे पहले ही 1 लाख फर्जी कंपनियों पर ताला लगा दिया गया। सिर्फ एक कलम चलाकर यह बड़ा काम कर दिया गया।' इस पर अपनी सरकार की पीठ थपथपाते हुए मोदी ने कहा कि इस तरह के फैसले राष्ट्र जीवन जीने वाले लोग ही ले सकते हैं।


पीएम मोदी ने कहा कि तीन लाख से ज्यादा कंपनियां संदेह के दायरे में हैं। 37 हजार ऐसी कंपनियों की पड़ताल की गई है, जो इधर के पैसे उधर करने का काम करती थीं। उन्होंने कहा कि यह बड़ा काम है कि एक कलम पर ही एक लाख कंपनियों को कंपनी रजिस्ट्रार के रजिस्टर से हटा दिया गया।


पीएम ने कहा कि 3 लाख से ज्यादा रजिस्टर्ड कंपनियां ऐसी सामने आई हैं, जिनका लेन-देन संदेह के दायरे में है। उन्होंने कहा कि अभी कुल आंकड़ों का विश्लेषण नहीं हुआ है। ऐसे में यह आंकड़ा बढ़ सकता है। इकॉनमी को बचाने के लिए अपने प्रयास गिनाते हुए मोदी ने कहा, '8 नवंबर सभी को याद है। मैंने सुना है कि आप लोगों को 8 नवंबर के बाद इतना काम करना पड़ा कि करियर में कभी नहीं किया था। मैंने सुना था कि तमाम सीए दिवाली की छुट्टियां मनाने गए थे, लेकिन वापस लौट आए। कहा जाता है कि तमाम सीए ऑफिस रात-रात भर चलते थे।'