क्षेत्रीय पार्टियों की कमाई में इजाफा, 2017-18 में DMK को मिला सबसे ज्यादा चंदा


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (15 नवंबर): अगले साल लोकसभा चुनाव होने हैं, लिहाजा सभी सियासी दलों को पैसे यानी चंदे की दरकार है। ऐसे में आम चुनाव से पहले क्षेत्रीय पार्टियों के लिए अच्छी खबर है। क्षेत्रीय पार्टियों ने 2017-18 के दौरान आए चंदे के जो आंकड़े दिए हैं, उसमें बीते साल के मुकाबले उनकी आय में बढोतरी हुई है। तमिलनाडु में प्रभाव रखने वाला द्रमुक सबसे ज्यादा चंदा पाने वाला दल है। 2017-18 के दौरान 35 करोड़ रुपए की आय द्रमुक को हुई हैं, जो दूसरी किसी भी क्षेत्रीय पार्टी से ज्यादा है। इसके बाद तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) को 27.7 करोड़ का चंदा मिला है। नवीन पटनायक के नेतृत्व वाली पार्टी बीजू जनता दल को 14 करोड़ रुपए की आय हुई है। तेलुगू देशम पार्टी को 19 करोड़, वाएसआर कांग्रेस को 14 करोड़, जदयू को 12 करोड़, जनता दल (सेक्यूलर) को आठ करोड़, आम आदमी पार्टी को आठ करोड़, शिरोमणि अकाली दल को 3.9 करोड़ और राष्ट्रीय लोकदल को दो करोड़ का चंदा 2017-18 में मिला है। इसके अलावा इनेलो, एनपीपी, एसडीएफ, पीएमके को भी एक करोड़ से ज्यादा का चंदा मिला है।

2016-17 में क्षेत्रीय दलों में सबसे ज्यादा चंदा पाने वाली समाजवादी पार्टी ने अभी अपनी फंडिंग का खुलासा नहीं किया है। इसके अलावा अन्नाद्रमुक और एआईएमआईएम ने अपनी आय अभी घोषित नहीं की है। आय वित्त वर्ष 2016-17 में समाजवादी पार्टी 82.76 करोड़ रुपए के साथ सबसे ऊपर रही थी। सपा के बाद तेलुगू देशम पार्टी और अन्नाद्रमुक का नंबर था। तेलुगु देशम पार्टी यानी तेदेपा 72.92 करोड़ और अन्नाद्रमुक को 48.88 करोड़ रुपए बीते साल मिले थे।