क्रिकेट में भी दिखाए जाएंगे रेड कार्ड, गलती पर 10 ओवर बैठना होगा बाहर

नई दिल्ली (11 फरवरी):  फुटबाल और हॉकी की तर्ज पर अब क्रिकेट में भी रेड और येलो कार्ड दिखाए जाने की तैयारी चल रही है। मैरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने क्रिकेट में दुर्व्यवहार पर रोक लगाने के उद्देश्य प्रायोगिक तौर पर कार्ड प्रणाली अपनाने का फैसला किया है, जिसके तहत किसी खिलाड़ी को रेड कार्ड दिखाकर मैदान से बाहर कर दिया जाएगा या 10 ओवर के लिए पेनाल्टी बॉक्स में भेज दिया जाएगा। एमसीसी अभी इसे क्लब, विश्वविद्यालय और स्कूल स्तर पर शुरू करेगी।

'द टेलिग्राफ' के मुताबिक 'इंग्लैंड में पिछले वर्ष कम से कम पांच मैच खिलाडिय़ों के खराब बर्ताव के चलते रद्द करने पड़े थे। एमसीसी ने विश्व स्तर पर अंपायरों के संघों से विचार-विमर्श कर दुव्र्यवहार के चार स्तरों का निर्धारण कर उनके लिए आचार संहिता बनाई है। प्रस्ताव में चौथी श्रेणी के दुव्र्यवहार के अंतर्गत अंपायर को धमकी देना, किसी खिलाड़ी, अधिकारी या दर्शक पर हमला करना और नस्लीय टिप्पणी करना शामिल है।

अगर बल्लेबाज इस श्रेणी के तहत दोषी पाया गया तो उसे रिटायर्ड आउट कर दिया जाएगा। वहीं तीसरे श्रेणी के तहत दोषी पाए जाने पर किसी खिलाड़ी को 10 ओवर के लिए पेनाल्टी बॉक्स में भेज दिया जाएगा। इससे कमतर अपराध का दोषी पाए जाने पर संबंधित टीम पर पांच रन की पेनाल्टी लगाई जा सकती है।