WWE में कितना झूठ और कितना सच, क्या सही में बहता है खून...

मियामी (26 जनवरी): WWE को लोकर लोगों के दिमाग में कई बातें होती हैं। लेकिन हम बता रहे हैं इसके उन रहस्यों के बारे में जिसके बारे में आप नहीं जानते होंगे...

हथियारों का सच... रेस्लिंग में हमेशा हथियारों का प्रयोग होता हुआ है। 75% हथियार एक दम असली होते हैं। स्टील चेयर, हथोड़ा, सिड़ी और बाकी हथियार असली होते हैं। रेसलर्स, रेस्लिंग स्कूल में कई सालों तक इन हथियारों का सही इस्तेमाल सीखते हैं। टेबल्स और चीजें कमजोर होती हैं, ताकि चोट कम लगें। 

रेसलर्स को दर्द होता है? अच्छी ट्रेनिंग और सालों की मेहनत के कारण इन्हें कम चोट लगती है। जिस मैट पर रेसलिंग होती है उसके नीचे स्प्रिंग लगाई जाती है। ताकि कम चोट लगे। साथ ही रिंग के नीचे माइक लगाया जाता है ताकि आवाज सुनाई दे सके।

चोट कितनी असली होती हैं? WWE में कई बार बड़ी चोट भी लगती है और कई बार छोटी भी। हालांकि चोट कैसी है इसका पता आप रेफ्री की शक्ल देखकर लगा सकते हैं। अगर चोट असली है तो रेफ्री बैकस्टेज देखेगा और X का निशान अपने हाथों से बनाएगा। 

खून असली या नकली जो खून हम मैच के दौरान देखते हैं वो 100% असली होता है। दरअसल होता ये है की रेफ्री अपने पास से रेसलर्स को ब्लेड देता है और फिर वो अपने माथे को थोड़ा सा काट लेते हैं। इससे खून बड़ी मात्रा में निकलता है, जिसे रेसलर अपने पूरे फेस में फैला देता है, और कुछ खून नीचे भी गिर जाता है।