लोगों को नहीं मिली राहत, RBI ने बरकरार रखीं दरें


नई दिल्ली (7 जनवरी):
आरबीआई से आस लगाए बैठे लोगों को निराशा हाथ लगी है। रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति (MPC) ने प्रमुख नीतिगत दरों में कोई बदलाव करने का फैसला नहीं किया।

इसलिए रीपो रेट 6% रिवर्स रीपो रेट 5.75%, मार्जिनल स्टैंडिंग फसिलिटी रेट 6.25% और बैंक रेट 6.25% की मौजूदा दर पर ही बकरकार हैं। आरबीआई ने अप्रैल से सितंबर के बीच मंहगाई के 5.1 से 5.6 प्रतिशत के बीच रहने का अनुमान लगाया है।

आपको बता दें कि अधिकारप्राप्त छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति में आरबीआई गवर्नर– पदेन अध्यक्ष, मौद्रिक नीति के प्रभारी आरबीआई के डेप्युटी गवर्नर- पदेन सदस्य, केंद्रीय बोर्ड द्वारा नामित आरबीआई के एक अधिकारी– पदेन सदस्य, भारतीय सांख्यिकीय संस्थान के प्रफेसर चेतन घाटे– सदस्य, दिल्ली स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स की निदेशक प्रफेसर पामी दुआ– सदस्य और IIM अहमदाबाद के प्रफेसर डॉ. रविन्द्र एच. ढोलकिया– सदस्य के रूप में शामिल हैं।