कांग्रेस की मांग, नोटबंदी पर प्रधानमंत्री मोदी मांगे माफी


नई दिल्ली ( 30 अगस्त ): रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 2016-17 की वार्षिक रिपोर्ट को जारी किया है। इस रिपोर्ट में नोटबंदी के बाद मार्च 2017 तक की स्थिति की जानकारी दी गई है। रिपोर्ट के मुताबिक नोटबंदी के दौरान बैन किए गए 1000 रुपये के पुराने नोटों में से करीब 99 फीसदी बैंकिंग सिस्टम में वापस लौट आए हैं। 1000 रुपये के 8.9 करोड़ नोट (1.3 फीसदी) नहीं लौटे हैं। 

नोटबंदी के आंकड़े आने के बाद कांग्रेस ने मोदी सरकार और आरबीआई पर हमला बोला है। नोटबंदी के बाद करीब-करीब सारा पैसा बैंकिंग सिस्टम में वापस आ गया है। कांग्रेस ने इसे लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पीएम मोदी को नोटबंदी पर माफी की मांगनी चाहिए।

सुरजेवाला ने कहा कि मोदी की अस्पष्टता एक बार फिर सामने आ गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दावा किया था कि 3 लाख करोड़ कालाधन वापस आया है। उन्होंने कहा कि आज आरबीआई के आंकड़े से पता चल गया है कि 15,44,000 करोड़ के नोटों में से केवल 16000 करोड़ नोट नहीं लौटे हैं। उन्होंने कहा कि कुल नोटों में से केवल 1 प्रतिशत ही नहीं लौटे। 

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि 16000 करोड़ की वसूली के लिए 21000 करोड़ रुपए खर्च किए गए। यह पूरी तरह से विफल हो गया है। खोदा पहाड़ निकली चुहिया।  

इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और यूपीए सरकार में वित्त मंत्री रह चुके पी चिदंबरम ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर निशाना साधा। चिदंबरम ने अपने ट्वीट में लिखा है कि नोटबंदी के बाद 15,44,000 करोड़ के नोटों में से केवल 16000 करोड़ नोट नहीं लौटे। यह एक फीसदी है। नोटबंदी की अनुशंसा करने वाले RBI के लिए यह शर्मनाक है।