लोन लेकर घर खरीदने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 जून):  आरबीआई ने ने मंगलवार को कहा कि 45 लाख से कम की लगात वाले घरों पर 35 लाख तक के होम लोन को प्रायॉरिटी सेक्टर लेंडिंग (PSL) माना जाएगा, जिससे कि कम लागत वाले निर्माण को बल मिले।

 RBI ने अपने नए नोटिफिकेशन में कहा, 'कम लागत के घरों के निर्माण को बल देने, कम आय वाले लोगों के घर का सपना पूरा करने और PSL के नियमों को आसान करने के लिए यह कदम उठाया गया है। महानगरों में यह सीमा 35 लाख होगी जबकि अन्य जगहों पर 25 लाख होगी।'

RBI द्वारा मंगलवार को जारी नोटिफिकेशन में कहा गया है कि अफोर्डेबल हाउसिंग स्‍कीम के साथ होम लोन के लिए PSL गाइडलाइंस का मिश्रण करने और लॉ कॉस्‍ट व EWS हाउसिंग को प्रमोट करने के मकसद से यह निर्णय लिया गया है। इस निर्णय के मुताबिक, मेट्रो शहरों में 35 लाख रुपए और अन्‍य शहरों में 25 लाख रुपए तक के होम लोन को प्राइऑरटी सेक्‍टर लैंडिंग में शामिल किया गया है।  

हालांकि, इसके लिये शर्त रखी गई है कि दस लाख रुपए और उससे अधिक आबादी वाले महानगरों में ऐसे मकानों की कुल कीमत 45 लाख रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए वहीं दूसरे शहरों में सस्ती आवास योजना वाले इन मकानों का दाम 30 लाख रुपए से अधिक नहीं होना चाहिये। तभी उन्हें प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र के दायरे में रिण सुविधा उपलब्ध होगी।

वर्तमान में व्यवस्था है कि महानगरों में 35 लाख रुपए और अन्य केंद्रो में 25 लाख रुपए मूल्य तक के मकानों को प्राथमिक क्षेत्र ऋण के दायरे में रखा जाता है और इनके लिये व्यक्तियों को क्रमश: 28 लाख रुपए और 20 लाख रुपए तक का ऋण दिया जाता है।

रिजर्व बैंक की 6 जून को जारी दूसरी द्वैमासिक मौद्रिक नीति के साथ विकास और नियामकीय नीतियों पर जारी वक्तव्य में इस संबंध में घोषणा की गई है।